My Blog

Swipe Left to read all My Blog Articles

My Blog

प्रधानमंत्री को लगभग पचास साल पहले वड़नगर (गुजरात) में उनके डेढ़ कमरे वाले मिट्टी और खपरैल के मकान में साथ रहने वाले अब्बास की अचानक ही इतनी भावुकता के साथ याद आ जाने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं? वैसे तो पुरानी स्मृतियाँ, सपने और हिचकियाँ पूछकर या अपाइंटमेंट लेकर नहीं आतीं, वे कभी भी आ सकतीं हैं, पर नरेंद्र भाई द्वारा अपने अब्बास भाई को माँ हीराबा के सौवें जन्मदिन पर याद करने का कोई भला-सा कारण तलाश कर पाना मुश्किल हो रहा है। मौक़ा किसी ईद, दीवाली या उत्तरायण का भी नहीं था। साल 2014 में गाँधीनगर से दिल्ली पहुँचने के बाद माँ से मिलने पीएम पहले भी कई बार गुजरात जा चुके हैं। - Why did the PM remember Abbas sitting thousands of kilometers away id="ram"> श्रवण गर्ग| हमें फॉलो करें प्रधानमंत्री को लगभग पचास साल पहले वड़नगर

Read All Article Posted By : India Known

वो अहंकार जिसने आजम का 'गढ़' खत्म कर दिया

मुलायम सिंह की निगाह में इतनी अहमियत रखने वाले शिवपाल कायदे से न तो 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में नज़र आए और न 2022 लोकसभा उपचुनाव में। वही स्थिति रही आज़म खान की, गिनी चुकी जनसभाओं को हटा दिया जाए तो ऐसी तस्वीरें खोजना कठिन है जिनमें शिवपाल- अखिलेश और आज़म- अखिलेश एक मंच पर मन से मुस्कराते नज़र आएं। - The arrogance that destroyed Azam bastion id="ram"> विभव देव शुक्‍ला| हमें फॉलो करें देश में हुए उपचुनाव की एक ऐसी सीट जहां

Read Full Article Posted By : India Known

‘अग्‍निपथ’ के विरोध में देश में हो रही हिंसा सामान्य नहीं

हिंसा के आ रहे विजुअल की थोड़ी गहराई से समीक्षा करेंगे तो साफ दिख जाएगा कि अनेक जगह आग लगाने वाले बिल्कुल पारंगत हैं। जिस तरह रेलवे की बोगी में पेट्रोल डालकर आग लगाई जा रही है इससे पता चलता है कि इसका ज्ञान उनको है। सामान्य आंदोलनों की आगजनी में थोड़ा जला, थोड़ा रह गया, कहीं आग लगा फिर बुझ गया। इस आंदोलन में ज्यादातर जगहों की आगजनी में संपत्तियां पूरी तरह खाक हो गई। - Violence in the country against Agneepath is not normal id="ram"> अवधेश कुमार| हमें फॉलो करें अग्निपथ के विरोध में हुई हिंसा और आगजनी ने पूरे

Read Full Article Posted By : India Known

कुणी घर देता का घर... प्रदेश का एकमात्र मूक-बधिर महाविद्यालय थोड़ी जगह चाहता है

श्री सद्गुरु साईबाबा सेवा ट्रस्ट द्वारा संचालित स्व. सीआर रंगनाथन निवासी कर्ण बधिर विद्यालय एवं कॉलेज ऑफ़ स्पेशल ऐजुकेशन (एचआई) वर्तमान में टिंगरे नगर के रहवासी इलाके के अपार्टमेंट में चल रहा है। मूक-बधिरों के लिए कला एवं वाणिज्य संकाय का यह आवासीय स्कूल-कॉलेज है, लेकिन इसके विस्तार को देखते हुए कम से कम दो एकड़ ज़मीन की आवश्यकता है। - State only deaf and dumb college wants some space id="ram"> स्वरांगी साने| हमें फॉलो करें एका तुफानाला कुणी घर देता का? (कोई घर दे सकता

Read Full Article Posted By : India Known

सामाजिक परिवर्तन की संवाहक होंगी द्रौपदी मुर्मू

भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने जनजातीय गौरव द्रौपदी मुर्मू को भारत के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद के लिए प्रत्याशी घोषित कर न केवल समाज के सभी वर्गों के प्रति सम्मान के भाव को पुन: सिद्ध किया है अपितु कांग्रेस शासन के उस अंधे युग के अंत की भी घोषणा भी कर दी है जिसमें सम्मान और पद‌ अपने-अपने लोगों को पहचानकर बांटे जाते थे। भारतीय लोकतंत्र में यह पहली बार होगा, जब कोई आदिवासी और वह भी महिला इस सर्वोच्च पद को सुशोभित करेगी। भारतीय जनता पार्टी की सोच हमेशा से ही भेदभावरहित, समरस तथा समानतामूलक समाज की स्‍थापना की रही है। - Draupadi Murmu will be the driver of social change id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 24 जून 2022 (09:56 IST) हमें फॉलो करें -शिवराज सिंह चौहान भाजपा नीत

Read Full Article Posted By : India Known

मुंबई के बाद अब पुणे में भी सजने लगी कद्रदानों की महफ़िल ‘चौपाल’

जाने-माने ग़ज़ल गायक जगजीत सिंह ने ख़ुद फ़ोन किया था कि कभी उन्हें भी चौपाल में बुलाया जाए। उनकी इस इच्छा को उन्हीं के शब्दों में जानते हैं। अब ऐसी महफ़िलें कहां सजती हैं, जहां अच्छे कद्रदान हों। एक चौपाल में उनकी आमद हुई और उन्होंने लोकप्रिय ग़ज़ल ‘आहिस्ता-आहिस्ता’ से शुरुआत की। - After Mumbai, 'Choupal', a gathering of the people, started decorating in Pune as well. id="ram"> स्वरांगी साने| हमें फॉलो करें कला-संस्कृति से आपका ज़रा भी नाता हो तो आपको

Read Full Article Posted By : India Known

फादर्स डे पर बेटी का पत्र पिता के नाम: मैं राजकुमारी ही तो हूं आपकी

पापा, एक बेटी होने के नाते हमेशा से ही मेरा झुकाव आपकी तरफ अधि‍क रहा है और आज भी मां से ज्यादा आपसे ज्यादा पटरी बैठती है मेरी। जब भी मां बचपन में डांटती तो आप अपने पास बुलाकर दुलार दिया करते थे। फादर्स डे पर बेटी का पत्र पिता के नाम... - blog on Father's Day 2022 id="ram"> प्रीति सोनी| हमें फॉलो करें आप एक पिता और मैं आपकी राजकुमारी आदरणीय

Read Full Article Posted By : India Known

फादर्स डे स्पेशल : बचपन में लौट आइए और सोचिए कि पिता क्या है

पिता हमेशा उस कुम्हार की तरह होता है, जो ऊपर से आपको आकार देता है और पीछे से हाथ लगाकर सुरक्षात्मक सहयोग। Father's Day 2022... अगर पिता के प्रेम को जानना चाहते हैं तो आप कितने भी बड़े क्यों न हो गए हों, एक बार अपने बचपन में लौट आइए और देखिए कि कैसे पिता ने आपको साइकल चलाना सिखाया था - blog on Father's Day 2022 id="ram"> प्रीति सोनी| हमें फॉलो करें पिता खुदा की नेमत है, पिता समझ का दरिया। पिता

Read Full Article Posted By : India Known

फादर्स डे 2022 : एक पिता का खत, अपनी नाराज बेटी के नाम

हो सके तो इस खत को पढ़कर ''फादर्स डे'' पर घर आना मैं अच्छा पिता बनना चाहता हूं तुम्हारे लिए...एक बार सच्चे दिल से सॉरी कहना चाहता हूं बच्चे... आओगी ना? खूब सारा प्यार तुम्हारा पापा - Father's Day 2022 A letter to a Daughter from a Father id="ram"> स्मृति आदित्य| हमें फॉलो करें मेरी अच्छी बेटी अनु प्यार और आशीर्वाद

Read Full Article Posted By : India Known

Ahmedabad Rath Yatra : अहमदाबाद में प्रभु जगन्नाथ की रथ यात्रा प्रारंभ, गृहमंत्री शाह ने की मंगल आरती और सीएम पटेल ने लगाई झाड़ू

Ahmedabad Jagannath Rath Yatra 2022: अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की 145वीं रथ यात्रा प्रारंभ हो गई है। पुरी में जगन्नाथ की रथयात्रा की तरह ही यहां पर भी रथयात्रा निकलती है। इस रथ यात्रा में ‘पहिंद विधि’ की रस्म निभाई जाती है जिसे मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने सम्पन्न किया। इससे पहले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने तड़के मंदिर में ‘मंगल आरती’ की थी। - Ahmedabad 145th Jagannath Rath Yatra id="ram"> पुनः संशोधित शुक्रवार, 1 जुलाई 2022 (11:43 IST) हमें फॉलो करें Ahmedabad Jagannath Rath Yatra 2022:

Read Full Article Posted By : India Known

रुपए में आई 5 पैसे की गिरावट, डॉलर के मुकाबले 79.11 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर

मुंबई। विदेशी कोषों की लगातार बिकवाली के चलते निवेशकों की धारणा कमजोर होने से रुपया शुक्रवार को शुरुआती कारोबार के दौरान 5 पैसे की गिरावट के साथ 79.11 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया। - Rupee fell by 5 paise id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 1 जुलाई 2022 (12:05 IST) हमें फॉलो करें मुंबई। विदेशी कोषों की लगातार

Read Full Article Posted By : India Known