achyutananda malika hindi

Swipe Left to read all achyutananda malika hindi Articles

achyutananda malika hindi

बताया जा रहा है कि संत अच्युतानंद दास ने अपनी योग शक्ति के बल पर भविष्य मालिका को लिखा था। कहते हैं कि मालिका नाम से 21 लाख किताबें हैं। ये ग्रंथ ओडिशा में जगन्नाथ पुरी के मठों, मंदिरों और महंतों के पास अलग-अलग रखे हुए हैं, लेकिन अच्युतानंद दास ने 318 पुस्तकें भविष्य के विषय पर लिखी है। इन पुस्तकों को अच्युतानंद मलिका के नाम से जाना जाता है। हालांकि उनके नाम पर कई लोग अब झूठी भविष्वाणियां भी प्रचारित कर रहे हैं, जो कि भविष्य मालिका में लिखी ही नहीं हैं। भविष्य मालिका के अनुसार धरती 3 चरणों से गुजर रही है। पहला कलयुग का अंत होगा, दूसरा महाविनाश होगा और तीसरा आएगा एक नया युग। - Bhavishya malika id="ram"> अनिरुद्ध जोशी| पुनः संशोधित गुरुवार, 23 जून 2022 (17:29 IST) हमें फॉलो करें बताया

Read All Article Posted By : India Known

500 वर्ष पूर्व हुए अच्युतानंददास की भविष्य मालिका की 10 भविष्यवाणियां

Achyutananda malika hindi:16वीं सदी में ओड़ीसा जगन्नाथ पुरी में जन्में संत अच्युतानंद दास ने अपनी योग शक्ति के बल पर कई अद्भुत भविष्यवाणियां की हैं। वर्तमान में उनकी लिखी पुस्तक 'भविष्य मालिका' बहुत चर्चा में है। अच्युतानंद दास ने 318 पुस्तकें भविष्य के विषय पर लिखी है। इन पुस्तकों को अच्युतानंद मलिका के नाम से जाना जाता है। उन्हीं में से उनकी 10 प्रमुख चौंकाने भविष्यवाणियां। - Bhavishya malika ki bhavishyavani id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 13 मई 2022 (15:29 IST) Achyutananda malika hindi:16वीं सदी में ओड़ीसा जगन्नाथ पुरी में

Read Full Article Posted By : India Known

जगन्नाथ मंदिर से मिले महाविनाश के संकेत, क्या होगा भविष्य में?

Achyutanand Bhavishya Malika Predictions: 16वीं सदी के संत अच्युतानंददास ने 500 वर्ष पहले कलयुग के अंत, महाविनाश और उसके बाद नए युग की कई भविष्यवाणियां की है। वर्तमान में उनके द्वारा लिखी पुस्तक 'भविष्य मालिका' की भविष्‍यवाणियां वायरल हो रही है, जिसमें यह बताया गया है कि जिस दिन जगन्नाथ मंदिर में निम्नलिखित घटनाएं घटेगी तो समझ लेना की कलयुग का अंत हो गया है और अब महानिवाश प्रारंभ होगा। आओ जानते हैं कि उन्होंने क्या संकेत दिए हैं। - Jagannath Mandir Ke Sanket id="ram"> पुनः संशोधित शुक्रवार, 13 मई 2022 (13:39 IST) Achyutanand Bhavishya Malika Predictions: 16वीं सदी के संत

Read Full Article Posted By : India Known

क्या होगा 2022 से 2029 के बीच, क्या 13 मुल्क मिलकर करेंगे भारत पर हमला?

16वीं सदी में ओडिशा में 5 चमत्कारिक संत हुए हैं जिन्हें पंचसखा कहा गया है। पंचसखा के नाम हैं- अच्युतानंद दास, अनंतदास, जसवंतदास, जगन्नाथदास और बलरामदास। इनमें से एक अच्युतानंददास की भविष्यवाणियां इस समय सोशल मीडिया में बहुत वायरल हो रही हैं। - Bavishya malika predictions in hindi id="ram"> Last Updated: गुरुवार, 12 मई 2022 (19:27 IST) 16वीं सदी में ओडिशा में 5 चमत्कारिक संत हुए हैं

Read Full Article Posted By : India Known

12 साल पहले धोनी और साक्षी ने आज ही रचाया था ब्याह, जानिए प्यार कैसे बंधा शादी के बंधन में

महेंद्र सिंह धोनी की साक्षी के साथ शादी ने 2010 में सबको चौiका दिया। दोनों 4 जुलाई को विवाह बंधन में बंध गए। यह पहली बार था जब धोनी के साथ साक्षी का नाम जुड़ा और हमेशा के लिए दोनों साथ हो गए। - MS Dhoni celebrates his wedding Anniversary with Sakshi Dhoni today id="ram"> Last Updated: सोमवार, 4 जुलाई 2022 (13:57 IST) हमें फॉलो करें महेंद्र सिंह धोनी की साक्षी के

Read Full Article Posted By : India Known

गन्ने के कचरे से लिए जा सकेंगे अपराधियों के फिंगरप्रिंट्स, महज 50 रुपए आएगा खर्चा

जयपुर। पुलिस को किसी भी केस की जांच में दोषियों तक पहुंचने के लिए फिंगरप्रिंट्स की आवश्यकता मुख्य रूप से पड़ती है। घटनास्थल पर मिले फिंगरप्रिंट्स पुलिस को दोषी तक पहुंचाने में बहुत मदद करते हैं। लेकिन, फिंगरप्रिंट की जांच में इस्तेमाल होने वाले पाउडर का दाम बहुत ज्यादा होता है। केवल 10 ग्राम पाउडर के लिए 3850 रुपए चुकाने होते हैं। जयपुर के शोधकर्ताओं ने इस खर्च से निपटने का तरीका खोज निकाला है। उन्होंने गन्ने के कचरे से फिंगर प्रिंट लेने एक ऐसा तरीका खोजा है, जो बेहद किफायती और प्रभावशाली है। इस किट की कीमत मात्र 50 रुपए है। - Jaipur researchers make fingerprint inspection kit out of sugarcane fibers id="ram"> पुनः संशोधित सोमवार, 4 जुलाई 2022 (14:00 IST) हमें फॉलो करें जयपुर। पुलिस को किसी

Read Full Article Posted By : India Known