उत्तरायण पर्व मकर संक्रांति : क्या है शुभ योग और क्या होगा देश पर असर

Makar Sankranti horoscope of 12 zodiac signs Astrology: 14 जनवरी 2022 के साथ ही मतमतांतर होने के कारण 15 जनवरी को भी मकर संक्रांति का पर्व भी मानाया जाएगा। सूर्य के अस्‍त होने के पहले जिस दिन सूर्य राशि बदलते हैं। उसी दिन उनका पर्व मनाया जाता है। इसी के चलते विश्वविजय, निर्णय सागर, चिंताहरण आदि पंचांगों में इस पर्व को 14 जनवरी बताया गया है। उदय तिथि के महत्व के अनुसार 15 जनवरी को लोग संक्रांति का स्नान-दान करेंगे। आओ जानते हैं शुभ योग संयोग और इस मकर संक्रांति का क्या होगा देश पर असर। id="ram"> Last Updated: गुरुवार, 13 जनवरी 2022 (15:44 IST) Effect of Makar Sankranti 2022 Makar Sankranti horoscope of 12 zodiac signs Astrology: 14 जनवरी 2022 के

Read Full Article Posted By : India Known

11 जून 2021, शुक्रवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन- उत्तरायण मास-ज्येष्ठ पक्ष-शुक्ल संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-ग्रीष्म वार-शुक्रवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-प्रतिपदा नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-मृगशिरा योग (सूर्योदयकालीन)-शूल करण (सूर्योदयकालीन)-बव लग्न (सूर्योदयकालीन)-वृष शुभ समय- 7:30 से 10:45, 12:20 से 2:00 तक राहुकाल-प्रात: 10:30 से 12:00 बजे तक दिशा शूल-वायव्य योगिनी वास-पूर्व गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-मिथुन व्रत/मुहूर्त-व्यापार/जातकर्म मुहूर्त यात्रा शकुन- शुक्रवार को मीठा दही खाकर यात्रा पर निकलें। आज का मंत्र-ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:। आज का उपाय-किसी मंदिर में बताशे चढ़ाएं। वनस्पति तंत्र उपाय-गूलर के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है। 'वेबदुनिया'

Read Full Article Posted By : India Known

12 जुलाई 2021, सोमवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन- उत्तरायण मास-आषाढ़ पक्ष-शुक्ल संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-वर्षा वार-सोमवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-द्वितीया नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-आश्लेषा योग (सूर्योदयकालीन)-वज्र करण (सूर्योदयकालीन)-कौलव लग्न (सूर्योदयकालीन)-मिथुन शुभ समय- 6:00 से 7:30 तक, 9:00 से 10:30 तक, 3:31 से 6:41 तक राहुकाल- प्रात: 7:30 से 9:00 बजे तक दिशा शूल-आग्नेय योगिनी वास-उत्तर गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-सिंह व्रत/मुहूर्त-श्री जगन्नाथ रथ यात्रा/रवियोग यात्रा शकुन- मीठा दूध पीकर यात्रा करें। आज का मंत्र-ॐ सौं सोमाय नम:। आज का उपाय-जगन्नाथ मंदिर में खीर अर्पित करें। वनस्पति तंत्र उपाय- पलाश के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| Shubh muhurat आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known

12 नवंबर 2021, शुक्रवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन-दक्षिणायण मास-कार्तिक पक्ष-शुक्ल संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-हेमन्त वार-शुक्रवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-नवमी नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-धनिष्ठा योग (सूर्योदयकालीन)-ध्रुव करण (सूर्योदयकालीन)-बालव लग्न (सूर्योदयकालीन)-तुला शुभ समय- 7:30 से 10:45, 12:20 से 2:00 तक राहुकाल-प्रात: 10:30 से 12:00 बजे तक दिशा शूल-वायव्य योगिनी वास-पूर्व गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-कुम्भ व्रत/मुहूर्त-अक्षय आंवला नवमी (मतान्तर) यात्रा शकुन- शुक्रवार को मीठा दही खाकर यात्रा पर निकलें। आज का मंत्र-ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:। आज का उपाय-लक्ष्मी मंदिर में आंवलें चढाएं। वनस्पति तंत्र उपाय-गूलर के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known

14 जुलाई 2021, बुधवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन- उत्तरायण मास-आषाढ़ पक्ष-शुक्ल संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-वर्षा वार-बुधवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-चतुर्थी नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-पूर्वाफाल्गुनी योग (सूर्योदयकालीन)-व्यतिपात करण (सूर्योदयकालीन)-विष्टि लग्न (सूर्योदयकालीन)-मिथुन शुभ समय- 6:00 से 9:11, 5:00 से 6:30 तक राहुकाल- दोप. 12:00 से 1:30 बजे तक दिशा शूल-ईशान योगिनी वास-नैऋत्य गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-सिंह व्रत/मुहूर्त-भद्रा/ रवियोग यात्रा शकुन-हरे फल खाकर अथवा दूध पीकर यात्रा पर निकलें। आज का मंत्र-ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:। आज का उपाय-गणेशजी को दूर्वा की माला चढाएं। वनस्पति तंत्र उपाय- अपामार्ग के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| Shubh muhurat आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known

18 जून 2021, शुक्रवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन- उत्तरायण मास-ज्येष्ठ पक्ष-शुक्ल संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-ग्रीष्म वार-शुक्रवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-अष्टमी नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-उत्तराफाल्गुनी योग (सूर्योदयकालीन)-व्यतिपात करण (सूर्योदयकालीन)-विष्टि लग्न (सूर्योदयकालीन)-मिथुन शुभ समय- 7:30 से 10:45, 12:20 से 2:00 तक राहुकाल-प्रात: 10:30 से 12:00 बजे तक दिशा शूल-वायव्य योगिनी वास-ईशान गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-कन्या व्रत/मुहूर्त-अन्नप्राशन/झांसी की रानी की पुण्यतिथि यात्रा शकुन- शुक्रवार को मीठा दही खाकर यात्रा पर निकलें। आज का मंत्र-ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:। आज का उपाय-लक्ष्मी मंदिर में खीर चढ़ाएं। वनस्पति तंत्र उपाय-गूलर के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| Today Muhurat आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known

18 अक्टूबर 2021, सोमवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन-दक्षिणायण मास-आश्विन पक्ष-शुक्ल संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-शरद वार-सोमवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-त्रयोदशी नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-पूर्वाभाद्रपद योग (सूर्योदयकालीन)-ध्रुव करण (सूर्योदयकालीन)-तैतिल लग्न (सूर्योदयकालीन)-तुला शुभ समय- 6:00 से 7:30 तक, 9:00 से 10:30 तक, 3:31 से 6:41 तक राहुकाल- प्रात: 7:30 से 9:00 बजे तक दिशा शूल-आग्नेय योगिनी वास-दक्षिण गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-मीन व्रत/मुहूर्त-सोम प्रदोष/सौर कार्तिक मास प्रारंभ/मार्गी गुरु गोचर यात्रा शकुन- मीठा दूध पीकर यात्रा करें। आज का मंत्र-ॐ सौं सोमाय नम:। आज का उपाय-शिव मंदिर में शिवलिंग पर दुग्ध अर्पित करें। वनस्पति तंत्र उपाय- पलाश के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known

18 सितंबर 2021, शनिवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन-दक्षिणायण मास-भाद्रपद पक्ष-शुक्ल ऋतु-शरद संवत्सर नाम-आनन्द वार-शनिवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-द्वादशी/त्रयोदशी (क्षय) नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-धनिष्ठा योग (सूर्योदयकालीन)-सुकर्मा करण (सूर्योदयकालीन)-बालव लग्न (सूर्योदयकालीन)-कन्या शुभ समय- प्रात: 7:35 से 9:11, 1:57 से 5:08 बजे तक राहुकाल- प्रात: 9:00 से 10:30 तक दिशा शूल-पूर्व योगिनी वास-नैऋत्य गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-कुम्भ व्रत/मुहूर्त-शनि प्रदोष/पंचक प्रारंभ/आश्विन सौर मास प्रारंभ यात्रा शकुन-शर्करा मिश्रित दही खाकर घर से निकलें। आज का मंत्र-ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनयै नम:। आज का उपाय-शनि मंदिर में इमरती दान करें। वनस्पति तंत्र उपाय-शमी के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known

19 अक्टूबर 2021, मंगलवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन-दक्षिणायण मास-आश्विन पक्ष-शुक्ल संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-शरद वार-मंगलवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-चतुर्दशी नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-उत्तराभाद्रपद योग (सूर्योदयकालीन)-व्याघात करण (सूर्योदयकालीन)-वणिज लग्न (सूर्योदयकालीन)-तुला शुभ समय-10:46 से 1:55, 3:30 5:05 तक राहुकाल- दोप. 3:00 से 4:30 बजे तक दिशा शूल-उत्तर योगिनी वास-पश्चिम गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-मीन व्रत/मुहूर्त-मूल प्रारंभ/सर्वार्थसिद्धि योग यात्रा शकुन- दलिया का सेवन कर यात्रा पर निकलें। आज का मंत्र-ॐ अं अंगारकाय नम:। आज का उपाय-हनुमान मंदिर में बेसन का हलवा चढाएं। वनस्पति तंत्र उपाय- खैर के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known

2 जून 2021, बुधवार के शुभ मुहूर्त

शुभ विक्रम संवत्-2078, शक संवत्-1943, हिजरी सन्-1442, ईस्वी सन्-2021 अयन- उत्तरायण मास-ज्येष्ठ पक्ष-कृष्ण संवत्सर नाम-आनन्द ऋतु-ग्रीष्म वार-बुधवार तिथि (सूर्योदयकालीन)-अष्टमी नक्षत्र (सूर्योदयकालीन)-शतभिषा योग (सूर्योदयकालीन)-विषकुम्भ करण (सूर्योदयकालीन)-बालव लग्न (सूर्योदयकालीन)-वृष शुभ समय- 6:00 से 9:11, 5:00 से 6:30 तक राहुकाल- दोप. 12:00 से 1:30 बजे तक दिशा शूल-ईशान योगिनी वास-ईशान गुरु तारा-उदित शुक्र तारा-उदित चंद्र स्थिति-कुम्भ व्रत/मुहूर्त-संत दादूदयाल पुण्यतिथि/बुध गोचर यात्रा शकुन-हरे फ़ल खाकर अथवा दूध पीकर यात्रा पर निकलें। आज का मंत्र-ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:। आज का उपाय-किसी बटुक को हरे फल दान करें। वनस्पति तंत्र उपाय- अपामार्ग के वृक्ष में जल चढ़ाएं। id="ram"> पं. हेमन्त रिछारिया| आज आपका दिन मंगलमयी रहे, यही शुभकामना है।

Read Full Article Posted By : India Known