National Startup Day : 16 जनवरी को ही राष्‍ट्रीय स्‍टार्टअप दिवस क्‍यों मनाया जाएगा? जानिए क्‍या होता है स्‍टार्टअप?

16 जनवरी को हर साल राष्‍ट्रीय स्‍टार्टअप दिवस मनाया जाएगा। 15 जनवरी को प्रधानमंत्री मोदी ने स्‍टार्टअप इकाइयों को नए भारत का 'आधार स्‍तंभ' बताते हुए इस दिवस को मनाने की घोषणा कि। इस दौरान पीएम मोदी ने विभिन्‍न क्षेत्रों के स्‍टार्टअप कोरोबारियों को वर्चुअल मोड पर संबोधित करते हुए बधाई दी। और कहा कि स्‍टार्टअप की यह संस्‍कृति देश के दूरदराज क्षेत्रों तक पहुंचे।इसलिए हर साल यह दिवस 16 जनवरी को मनाया जाएगा। id="ram"> पुनः संशोधित शनिवार, 15 जनवरी 2022 (18:33 IST) 16 जनवरी को हर साल राष्‍ट्रीय

Read Full Article Posted By : India Known

मुगल बादशाह अकबर की 10 बड़ी बातें

बादशाह अकबर मुगल काल के सबसे कुशल शासक और धर्मनिरपेक्ष राजा थे। मुगल काल का इतिहास बहुत बड़ा और प्राचीन है। बादशाह अकबर का पूरा नाम जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर था। सम्राट अकबर मुगल साम्राज्य के संस्थापक जहीरूद्दीन मोहम्मद बाबर का पौत्र और नसीरुद्दीन हुमायूं और हमीदा बानो का पुत्र था। भारतीय इतिहास में अकबर को मुगल साम्राज्य का सबसे महान सम्राट कहा जाता है। तुलना की द़ष्टि से भारत में केवल एक राजा ऐसा था जिनकी तुलना बादशाह अकबर से की जाती थी और वह थे मौर्य वंश का महान शासक सम्राट अशोक। अकबर का जन्‍म 15 अक्टूबर 1542 को हुआ था। हालांकि यह तय नहीं है। इतिहास में अकबर के जन्‍म की अलग-अलग तिथि है। आइए जानते हैं अकबर से जुड़ी 10 बड़ी बातें - id="ram"> पुनः संशोधित बुधवार, 13 अक्टूबर 2021 (11:37 IST) बादशाह अकबर मुगल काल के सबसे कुशल

Read Full Article Posted By : India Known

जानें थॉमस एडिसन के बारे में 10 रोचक बातें

एक दिन स्‍कूल से एडिसन को एक पत्र दिया। एडिसन ने वह पत्र अपनी मां को दे दिया क्योकि उन्‍हें पढ़ते नहीं आता था। जब मां ने वह पत्र पढ़ा तो उनकी आंखों से आंसू गिरने लगे। क्‍योंकि उस पत्र में लिखा था आपके बेटे के खराब व्यवहार के चलते हम उसे पढ़ाने में असफल है। एडिसन की मां दुखी नहीं करना चाहती थी, इसलिए उन्होंने कहा कि इस पत्र में लिखा है, कि आपका बेटा एक जीनियस है, जिसे पढ़ाने के लिए हमारे विद्यालय में जीनियस शिक्षकों की भी जरूरत है लेकिन हमारे अंदर इतनी काबिलियत नहीं है कि हम आपके बेटे को पढ़ा सकें, इसलिए कृपा करके उन्हें घर पर ही शिक्षा दें। इसके बाद नैंसी एडिसन ने ही थॉमस को घर पर पढ़ाया। id="ram"> Last Updated: सोमवार, 18 अक्टूबर 2021 (12:11 IST) महान अमेरिकी आविष्कारक थॉमस अल्वा एडिसन ने

Read Full Article Posted By : India Known

17 June World karate day: कराटे और मार्शल आर्ट के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

17 जून को विश्व कराटे दिवस है। इस दिवस को वर्ल्ड कराटे फेडरेशन ने 20217 टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों के खेल में शामिल करने के लिए बनाया था। 2016 में यह घोषणा की गई थी कि कराटे ओलंपिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले पांच नए खेलों में से एक होगा। 70 के दशक से ही इस खेल को ओलंपिक के खेलों में शामिल करने का प्रयास जारी रहा है। id="ram"> अनिरुद्ध जोशी| 17 जून को विश्व कराटे दिवस है। इस दिवस को वर्ल्ड कराटे

Read Full Article Posted By : India Known

20 October 1962 : भारत और चीन युद्ध की बड़ी बातें

वर्तमान में भी भारत और चीन के बीच तनातनी जारी है। लेकिन अब हालात, वक्त, शौर्य बल, सेना की ताकत सब कुछ बदल गया है। भारत और चीन आज ऐसे पड़ोसी देश बन गए है, जहां युद्ध तो कम लेकिन बॉर्डर पर हलचल बनी रहती है। अब गोली बारी नहीं की जाती है लेकिन भारतीय सीमा में हस्तक्षेप करने पर भारतीय सेना द्वारा माकूल जवाब दिया जाता है। एक वक्त था जब कहा जाता था 'हिंदू-चीनी भाई-भाई'। लेकिन अब तो हालात ऐसे बन गए है कि महीनों तक दोनों सेनाएं आमने-सामने खड़ी रहती है। लेकिन 1962 में युद्ध के दौरान हालात बहुत अलग थे। उस वक्त देश को आजाद हुए कुछ ही वक्त हुआ था, भारत पूरी तरह से युद्ध के लिए तैयार नहीं था। जिस वजह से भारत को शिकस्त का सामना करना पड़ा। इस युद्ध से जुड़ी कई जानकारियां है जिससे लोग आज भी अनजान है। आइए जानते हैं - id="ram"> Last Updated: बुधवार, 20 अक्टूबर 2021 (12:55 IST) वर्तमान में भी भारत और चीन के बीच तनातनी जारी

Read Full Article Posted By : India Known

24 सितंबर: पहले ही प्रयास में ‘अंतरिक्ष यान’ को ‘मंगल की कक्षा’ में भेजा था भारत ने

24 सितंबर का दिन भारत के लिए बहुत खास है। इस दिन को वि‍ज्ञान के क्षेत्र में हमेशा याद रखा जाएगा। खासतौर से अंतरिक्ष में रूचि रखने वालों के लिए यह दिन वि‍शेष महत्‍व रखता है। id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 24 सितम्बर 2021 (13:43 IST) 24 सितंबर का दिन भारत के लिए बहुत खास है। इस दिन

Read Full Article Posted By : India Known

World Audiovisual Heritage Day - 27 अक्टूबर को विश्‍व दृश्‍य-श्रव्‍य विरासत दिवस क्‍यों मनाया जाता है?

विरासत वह चीज होती है जो आने वाली पीढ़ी को बहुत कुछ सिखाती है। तो कई बार उन्हें अपने भविष्‍य के लिए भी तैयार करने में मदद करती है। विरासत किसी भी चीज को लेकर हो सकती है। आज हम बात कर रहे हैं ऑडियो-वीडियो के बारे में। हर साल 27 अक्टूबर को विश्व श्रव्य-दृश्य विरासत दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य है रखें दस्‍तावेजों को संरक्षण के लिए लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करना। आइए जानते हैं इस दिवस के बारे में खास बातें - id="ram"> Last Updated: बुधवार, 27 अक्टूबर 2021 (12:21 IST) विरासत वह चीज होती है जो आने वाली पीढ़ी को बहुत

Read Full Article Posted By : India Known

आज विश्व पोहा दिवस : यह इंदौरी लेख है आपके लिए

अधिकतर भारतीय लोगों की शुरुआत पोहे से होती है। सुबह - सुबह एक प्लेट पोहे के साथ चाय... समझो मन प्रफुल्लित हो गया। 7 जून को इंदौर में विश्व पोहा दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने की शुरुआत इंदौरी कलाकार राजीव नेमा द्वारा की गई। कोरोना से पहले इंदौर में आज के दिन कई जगहों पर पोहे का वितरण होता था। मालवा के हर दूसरे घर में आपको सुबह में पोहे का नाश्ता मिल जाएगा। जिस तरह से पोहे को स्वादिष्ट बनाकर खाया जाता है। इसकी बात कुछ ओर ही होती है। id="ram"> poha Diwas 2021   अधिकतर भारतीय लोगों की शुरुआत पोहे से होती है। सुबह-सुबह एक

Read Full Article Posted By : India Known

देश के चौथे राष्ट्रपति वी वी गिरि की जयंती :10 बातें आपको पता होना चाहिए

भारत के चौथे राष्‍ट्रपति वी.वी.गिरि की आज 126वीं जन्‍म जयंती है। राजनीति में बड़े पद पर पहुंचना और देश के गरिमामय पद पर पहुंचना बहुत बड़ी बात होती है। लेकिन जब वी.वी गिरि राष्‍ट्रपति बने थे तब उन्‍होंने इतिहास रच दिया था। क्‍योंकि वह एकमात्र ऐसे राष्‍ट्रपति रहे हैं जो निर्दलीय उम्‍मीदवार के रूप में इस पद के लिए चयनित हुए थे। वी.वी गिरि ने अपने कार्यकाल के दौरान मजदूरों के उत्‍थान के लिए अनेक कार्य किए। उनकी जन्‍म जयंती पर जानते हैं कुछ खास 10 बातें - id="ram"> भारत के चौथे राष्‍ट्रपति वी.वी.गिरि की आज 126वीं जन्‍म जयंती है। राजनीति

Read Full Article Posted By : India Known

Hiroshima Day: हिरोशिमा और नागासाकी पर हुई परमाणु बमबारी से जुड़ी 10 जानकारी

दि्वतीय विश्‍व के दौरान अमेरिका द्वारा जापान के दो मुख्‍य शहरों पर परमाणु बम गिराए थे। यह मानव श्रंखला की सबसे बड़ी त्रासदी थी। इस दौरान 6 अगस्‍त को हुए हमले में करीब 80,000 हजार से अधिक लोगों की म़त्‍यू हो गई थी। जानकारी के अनुसार उस वक्‍त करीब 30 फीसदी लोगों की तत्‍काल मौत हो गई थी। इसके बाद परमाणु की रेडिएशन के कारण भी कई लोग तड़पते रहे। अमेरिका द्वारा पहले हिरोशिमा पर 6 अगस्‍त को बम गिराया गया था। और 9 अगस्‍त को नागासाकी पर दूसरा बम गिराया गया था। इस नरसंहार घटना के बारे में जानने के बाद हर किसी की रूह कांप जाती है। जानकारी के मुताबिक अगर जापान ने दूसरे हमले के बाद भी सरेंडर नहीं किया होता तब अमेरिका तीसरा हमला करने की तैयारी में था। हर साल 6 अगस्‍त को हिरोशिमा दिवस (Hiroshima Day)मनाया जाता है। id="ram"> दि्वतीय विश्‍व के दौरान अमेरिका द्वारा जापान के दो मुख्‍य शहरों पर

Read Full Article Posted By : India Known