Home / Articles / NASA के James Web Telescope को क्यों कहा जा रहा है 'टाइम मशीन'?

NASA के James Web Telescope को क्यों कहा जा रहा है 'टाइम मशीन'?

NASA के James Web Telescope को क्यों कहा जा रहा है 'टाइम मशीन'?   Image
  • Posted on 01st Jul, 2022 07:36 AM
  • 1472 Views

वॉशिंगटन। अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA द्वारा विकसित दुनिया का सबसे शक्तिशाली टेलीस्कोप 'जेम्स वेब' (James Web) जल्द ही अंतरिक्ष की अब तक की सबसे गहरी (Detailed) फोटो खींचकर जारी करेगा। NASA के अनुसार यह तस्वीर अगले महीने जारी की जाएगी। James Web Telescope 10 अरब डॉलर की लागत के साथ बनकर तैयार हुआ है और यह पृथ्वी के ठीक पीछे 12 लाख किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित है। NASA के उच्चाधिकारियों की मानें तो इस टेलीस्कोप से खींची जाने वाली फोटो अब तक के वैज्ञानिक इतिहास की नजरों से परे होगी। अंतरिक्ष विज्ञान के जानकार NASA के इस टेलीस्कोप को 'टाइम मशीन' भी कह चुके हैं। आइए जानते हैं इसकी वजह और ये भी जानेंगे कि इससे खींची जाने वाली तस्वीर के मायने क्या हो सकते हैं... - why James Web Telescope of NASA is like a Time Machine id="ram"> पुनः संशोधित शुक्रवार, 1 जुलाई 2022 (12:46 IST) हमें फॉलो करें Photo - Twitter वॉशिंगटन।

पुनः संशोधित शुक्रवार, 1 जुलाई 2022 (12:46 IST)
हमें फॉलो करें
Photo - Twitter
वॉशिंगटन। अमेरिकी स्पेस एजेंसी द्वारा विकसित दुनिया का सबसे शक्तिशाली टेलीस्कोप 'जेम्स वेब' (James Web) जल्द ही अंतरिक्ष की अब तक की सबसे गहरी (Detailed) फोटो खींचकर जारी करेगा। NASA के अनुसार यह तस्वीर अगले महीने जारी की जाएगी। 10 अरब डॉलर की लागत के साथ बनकर तैयार हुआ है और यह पृथ्वी के ठीक पीछे 12 लाख किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित है। NASA के उच्चाधिकारियों की मानें तो इस टेलीस्कोप से खींची जाने वाली फोटो अब तक के वैज्ञानिक इतिहास की नजरों से परे होगी। अंतरिक्ष विज्ञान के जानकार NASA के इस टेलीस्कोप को 'टाइम मशीन' भी कह चुके हैं। आइए जानते हैं इसकी वजह और ये भी जानेंगे कि इससे खींची जाने वाली तस्वीर के मायने क्या हो सकते हैं...

'बिग-बैंग' के बाद का समय देखेगा टेलीस्कोप:
NASA के एक वैज्ञानिक ने कहा कि हम यह समझने में लगे हैं कि James Web क्या-क्या कर सकता है? इसे विकसित करने में 20 साल से भी अधिक का समय लगा है। हमें पूरा विश्वास है कि यह टेलीस्कोप हमारी दुनिया के इतिहास में झांकेगा। यह बिग बैंग ( ब्रह्मांड का जन्म एक महाविस्फोट के परिणामस्वरूप हुआ) के ठीक बाद के समय को देखेगा और हमारी उत्पत्ति से जुड़े कुछ रहस्यमयी तत्वों को उजागर करेगा। वैज्ञानिकों के अनुसार James Web Telescope से ली जाने वाली तस्वीर 5 दिनों के 120 घंटों के अवलोकन (Observation) पर निर्भर होगी।

इसलिए NASA इसे टाइम मशीन कहता है:
कई बार विज्ञान की किताबों में स्पेस टेलीस्कोप को 'टाइम मशीन' की संज्ञा दी जाती रही है। इस विषय पर पहले भी कई बार सवाल उठाए जा चुके हैं। लेकिन देखा जाए तो स्पेस टेलीस्कोप 'टाइम मशीन' का काम करने में भी सक्षम है। आसान भाषा में समझाया जाए तो अंतरिक्ष में दूरी को हम इससे मापते हैं कि प्रकाश को एक स्थान से दूसरे पर जाने में कितना समय लगता है? NASA ने बताया है कि पृथ्वी से सबसे नजदीकी तारा 4 प्रकाश वर्ष (Light Year) की दूरी पर स्थित है। जब हम सबसे नजदीकी तारे को भी देखते हैं तो हमें 4 प्रकाश वर्ष पहले के तारे को देख रहे होते हैं। इसी तरह ग्रहों और तारों की दूरी और स्थिति का पता लगाकर हम अपने बीते हुए समय के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।

'Alien World' पर भी रहेगी नजर:
इस तथ्य को और अधिक स्पष्टता से समझाने के लिए Virgo क्लस्टर (तारों का समूह) को उदाहरण के तौर पर देखा जा सकता है। कई आकाशगंगाओं (Galaxies) से बना Virgo क्लस्टर हमारी पृथ्वी के सबसे नजदीक है और लगभग 6 करोड़ लाइट ईयर दूर भी। इससे ये पता चलता है कि Virgo डायनासोर युग के अंत के समय से हमारी और बढ़ रहा है। NASA ने कहा कि James Web Telescope उन ग्रहों की भी तस्वीरें खींचकर भेजेगा जिनमें परजीवियों (Aliens) के होने का दावा किया जाता है।

NASA के James Web Telescope को क्यों कहा जा रहा है 'टाइम मशीन'? View Story

Latest Web Story

Latest 20 Post