अपने पर्स को कैसा रखें की धन आता रहे, क्या रखें, क्या बाहर करें

अपने पर्स को कैसा रखें की धन आता रहे, क्या रखें, क्या बाहर करें   Image

Wallet Vastu : पर्स जिसमें हम रुपये पैसे के साथ ही, कार्ड और अन्य जरूरी सामान रखते हैं। पर्स कई प्रकार का होता है। जेब में रखने वाला पर्स अक्सर पुरुषों के पास होता है। आओ जानते हैं कि पर्स में क्या रखना चाहिए और क्या नहीं। id="ram"> पुनः संशोधित मंगलवार, 11 जनवरी 2022 (14:50 IST) Vastu for purse Wallet Vastu : पर्स जिसमें हम रुपये

पुनः संशोधित मंगलवार, 11 जनवरी 2022 (14:50 IST)
Vastu for purse
Vastu : जिसमें हम रुपये पैसे के साथ ही, कार्ड और अन्य जरूरी सामान रखते हैं। पर्स कई प्रकार का होता है। जेब में रखने वाला पर्स अक्सर पुरुषों के पास होता है। आओ जानते हैं कि पर्स में क्या रखना चाहिए और क्या नहीं।


पर्स में क्या रखें :
1. पर्स में सिक्के और नोट को अलग-अलग रखें। पर्स में रुपए कभी भी मोड़ या फोल्ड करके ना रखें।

2. पर्स में 21 अखंडित चावल के दाने बांधकर रखें।

3. पर्स बाईं जेब में रखना अति शुभ माना गया है।

4. तांबे, चांदी की चीजें में रखना लाभप्रदा है।
5. पर्स में एक चांदी का सिक्का रखें जिसमें माता लक्ष्मी की आकृति बनी हो।

6. पर्स में लाल रंग के कागज पर अपनी इच्छा लिखकर उसे रेशमी धागे से बांधकर अपने पर्स में रखें।

7. पर्स में सुगंधित इत्र भी रख सकते हैं।
पर्स में क्या न रखें :
1. पर्स में कभी भी लोहे की वस्तु न रखें, जैसे चाबी, चाकू, ब्लेड, पीन आदि।

2. पर्स में बिल-रसीद या टिकट ना रखें इससे विवाद बढ़ता है।

3. पर्स में कभी भी बीड़ी, सिगरेट, पाऊच या गुटखा आदि न रखें।

4. पर्स में कर्ज से लिए रुपए या कर्ज देने वाले रुपए पैसे न रखें। ब्याज देने वाला रुपए भी न रखें।

5. पर्स में फटे, पुराने नोट न रखें।

6. पर्स में चॉकलेट, टॉफी आदि खाने की वस्तुएं न रखें।
7. पर्स में दवाईयां, कैप्सूल, टेबलेट आदि भी न रखें।

8. पर्स में किसी की तस्वीर न रखें। माता लक्ष्मी की तस्वीर रखे सकते हैं।

अन्य सावधानियां :
- रात्रि में सोते समय पर्स कभी भी सिरहाने ना रखकर उसे हमेशा अलमारी में रखें।

- शौच के समय या शौचालय में पर्स आगे वाली जेब में रखें।

- यदि पर्स कभी फट या कट जाए, तुरंत बदल दें।
- पर्स में सिक्कों की व्यवस्था अलग हो तथा बंद करके रखें। पर्स खोलते समय सिक्का नीचे नहीं गिरना चाहिए। इससे अपव्यय बढ़ता है।

About author
You should write because you love the shape of stories and sentences and the creation of different words on a page.