1 साल बाद भारत की ऑस्ट्रेलया पर ऐतिहासिक जीत को 4 एपिसोड की डॉक्यूमेंट्री में पिरो लाया है सोनी नेटवर्क

1 साल बाद भारत की ऑस्ट्रेलया पर ऐतिहासिक जीत को 4 एपिसोड की डॉक्यूमेंट्री में पिरो लाया है सोनी नेटवर्क   Image

पिछले साल इसी समय के दौरान ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का किला माने जाने वाले -द गाबा - को जीत लिया गया था। भारतीय टीम को इस काम में 32 साल और 2 महीने लगे। चोट के बावजूद युवा भारतीय टीम ने सभी बाधाओं को पार कर ऑस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हराकर सीरीज अपने नाम की थी। id="ram"> Last Updated: बुधवार, 12 जनवरी 2022 (15:59 IST) नई दिल्ली: पिछले साल इसी समय के दौरान

Last Updated: बुधवार, 12 जनवरी 2022 (15:59 IST)
नई दिल्ली: पिछले साल इसी समय के दौरान ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का किला माने जाने वाले -द गाबा - को जीत लिया गया था। भारतीय टीम को इस काम में 32 साल और 2 महीने लगे। चोट के बावजूद युवा भारतीय टीम ने सभी बाधाओं को पार कर ऑस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हराकर सीरीज अपने नाम की थी।

टीम इंडिया की उस ऐतिहासिक जीत की पहली सालगिरह मनाने के लिए ने "डाउन अंडरडॉग्स - इंडियाज ग्रेटेस्ट कमबैक" (Down Underdogs- India's Greatest Comeback) नाम से एक विशेष डॉक्यूमेंट्री सीरीज का निर्माण किया है। इस डॉक्यूसीरीज का प्रीमियर 14 जनवरी, 2022 को पहले एपिसोड के साथ होगा।

फैन्स को ऐतिहासिक जीत के और करीब लाने के साथ-साथ यह सुनिश्चित करने के लिए कि सभी भारतीय अपने परिवार और दोस्तों के साथ इस ब्लॉकबस्टर एपिसोड का आनंद लें, सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क हिंदी और अंग्रेजी भाषाओ में 4-भाग वाली डॉक्यूसीरीज लॉन्च करेगा। इसके बाद यह सीरीज तमिल और तेलुगु में भी रिलीज़ होगी।
इस डॉक्यूसीरीज के चार एपिसोड्स को-एडिलेड एब्रेशन (Adelaide Abbretion), मेलबोर्न मैजिक(Melbourne Magic), सिडनी सीज(Sydney Seige) एंड ब्रिस्बेन ब्रीच्ड (Brisbane Breached) – नाम दिया गया है।

ALSO READ:

1 पारी में 10 भारतीय टेस्ट विकेट लेने वाले एजाज पटेल बने दिसंबर 2021 के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर

इनका प्रसारण 14 से 17 जनवरी के बीच रोजाना रात 8:00 बजे सोनी सिक्स और सोनी टेन 4 चैनलों पर किया जाएगा। अंग्रेजी में इनका प्रसारण सोनी टेन 4 चैनल पर होगा जबकि हिंदी पसंद करने वाले लोग इन्हें सोनी टेन 3 पर देख सकेंगे। साथ ही यह सीरीज ऑन-डिमांड ओटीटी प्लेटफॉर्म सोनी लिव पर भी उपलब्ध होगी। डॉक्यूसीरीज सोनी मैक्स एचडी, सोनी सब एचडी और सोनी पिक्स चैनलों पर भी प्रसारित की जाएगी।

पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में मिली सफलता, भारतीय क्रिकेट के महानतम प्रदर्शन में से एक: गावस्कर

पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में चोटों से जूझने के बावजूद की अविश्वसनीय टेस्ट जीत को याद करते हुए महान खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने कहा कि यह प्रदर्शन टीम की अब तक की सबसे बड़ी सफलता में से एक है और इसे देश के क्रिकेट इतिहास का स्वर्णिम अध्याय माना जा सकता है।

श्रृंखला के पहले टेस्ट की दूसरी पारी में अपने सबसे कम स्कोर महज 36 रन पर आउट होने और करारी शिकस्त झेलने के बाद भारतीय टीम ने शानदार वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया। अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में टीम ने मेलबर्न में जीत दर्ज की और फिर सिडनी में मुश्किल परिस्थियों में रविचंद्रन अश्विन और हनुमा विहारी के संघर्ष ने मैच को ड्रा करवाया।

ऑस्ट्रेलिया का अभेद्य किला माना जाने वाला गाबा (ब्रिसबेन) मैदान पर खेले गये निर्णायक मैच में भारत ने आखिरी दिन ऋषभ पंत की शानदार बल्लेबाजी से यादगार जीत दर्ज की।

गावस्कर ने कहा, ‘‘ पिछले साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया में भारत की जीत भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी सफलता में से एक मानी जाएगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ अपने सबसे कम टेस्ट स्कोर 36 रन पर आउट होने के बाद मनोबल को उठाना और फिर एक बड़ी टीम को उसकी घरेलू सरजमीं पर हराना खिलाड़ियों के दृढ़ संकल्प के अलावा कप्तान, कोच रवि शास्त्री और उनके समर्थन समूह द्वारा निभाई गई नेतृत्व भूमिकाओं को दर्शाता हैं। ’’पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘‘ मुझे इस दौरान वहां मौजूद रहने और भारतीय क्रिकेट के इतिहास के एक सुनहरा अध्याय को देखने का सौभाग्य मिला।’’

माइकल क्लार्क ने कहा - ऑस्ट्रेलिया ने भारत को कमजोर समझा

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क उस दौरे पर मनोबल तोड़ने वाली शुरुआती हार के बाद जिस तरह से भारत ने संघर्ष किया उसके लिए वह हर तरह के श्रेय का हकदार है।क्लार्क ने कहा, ‘‘भारत ने एक ऐसा गेंदबाजी आक्रमण चुना, जो काम कर गया।’’

विश्व कप विजेता दायें हाथ के इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा, ‘‘ अलग-अलग गेंदबाज, क्योंकि हर कोई एक जैसी गेंदबाजी नहीं करता है। अलग-अलग रणनीति, अलग-अलग कौशल और इन सब का सही तरीके से इस्तेमाल का श्रेय भारत को जाता है। ऑस्ट्रेलिया ने भी पहले टेस्ट की सफलता के बाद शायद भारत को हलके में ले लिया होगा।’’

About author
You should write because you love the shape of stories and sentences and the creation of different words on a page.