मैन ऑफ द मैच और सीरीज बने युवा पीटरसन की तुलना इस महान भारतीय बल्लेबाज से की शास्त्री ने

मैन ऑफ द मैच और सीरीज बने युवा पीटरसन की तुलना इस महान भारतीय बल्लेबाज से की शास्त्री ने   Image

भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कीगन पीटरसन की तारीफ करते हुए कहा कि दक्षिण अफ्रीका का यह बल्लेबाज उन्हें गुंडप्पा विश्वनाथ की याद दिलाता है। पीटरसन ने भारत पर टेस्ट श्रृंखला में 2-1 से जीत में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने तीसरे टेस्ट में दो अर्धशतक जमाये और प्लेयर आफ द मैच के साथ प्लेयर आफ द सीरिज भी रहे। id="ram"> पुनः संशोधित शनिवार, 15 जनवरी 2022 (14:53 IST) भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि

पुनः संशोधित शनिवार, 15 जनवरी 2022 (14:53 IST)
भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने की तारीफ करते हुए कहा कि दक्षिण अफ्रीका का यह बल्लेबाज उन्हें गुंडप्पा विश्वनाथ की याद दिलाता है। > पीटरसन ने भारत पर टेस्ट श्रृंखला में 2-1 से जीत में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने तीसरे टेस्ट में दो अर्धशतक जमाये और प्लेयर आफ द मैच के साथ प्लेयर आफ द सीरिज भी रहे।> साल 2021 जून में अपने करियर का आगाज करने वाले कीगन पीटरसन ने इस सीरीज में मशहूर भारतीय गेंदबाजी का सामना बहुत ही दिलेरी के साथ किया।

कीगन पीटरसन ने पूरी सीरीज में 46 की औसत से सर्वाधिक 276 रन बनाए। इस सीरीज में पीटरसन शतक तो नहीं बना पाए लेकिन 3 अर्धशतक जड़े। उनका स्ट्राइक रेट भी 55 का रहा और कुल 38 चौके उन्होंने इस सीरीज में लगाए।

छोटे कद के पीटरसन को करियर शुरु किए हुए सिर्फ 5 टेस्ट ही हुए हैं। इतने युवा बल्लेबाज का इतनी घातक गेंदबाजी क्रम के खिलाफ बड़ी पारियां खेलना यह बताता है कि दक्षिण अफ्रीका टेस्ट टीम में वह मध्यक्रम में एक बड़ा नाम बनने वाले हैं।

उनकी तारीफ में शास्त्री ने ट्वीट किया ,‘‘ कीगन पीटरसन। एक दिन दुनिया का महान खिलाड़ी बनेगा। मेरे बचपन के हीरो गुंडप्पा विश्वनाथ की याद दिलाता है।’’
अपने दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में रहे विश्वनाथ ने भारत के लिये 91 टेस्ट और 25 वनडे खेले। शास्त्री ने इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन के संदर्भ में यह भी कहा कि ‘केपी’ (कीगन पीटरसन) अच्छा ‘इनिशियल ’ है।

प्लेयर ऑफ द मैच और प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट कीगन पीटरसन ने कहा कि इन परिस्थितियों में विकेट पर समय बिताना जरूरी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘ टेस्ट मैच खेलना आसान नहीं है। चुनौतीपूर्ण पिच, बदलती परिस्थितियों से निपटना पडा। हमें हमेशा उच्च गुणवत्ता वाले गेंदबाजी आक्रमण का सामना करना पड़ा। बल्लेबाजी के दौरान मैदान पर समय बिताना जरूरी था। आप जितनी देर तक बल्लेबाजी करते हैं, यह उतना ही आसान होता जाता है। मैंने इसके हर पल का आनंद लिया।’’

About author
You should write because you love the shape of stories and sentences and the creation of different words on a page.