बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन हादसा: रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने किया घटनास्थल का दौरा

बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन हादसा: रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने किया घटनास्थल का दौरा   Image

गुवाहाटी। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी जिले में घटनास्थल का शुक्रवार को दौरा किया, जहां गुरुवार को बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतरने के कारण हुए हादसे में 9 लोगों की मौत हो गई थी और कम से कम 36 अन्य लोग घायल हो गए हैं। id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 14 जनवरी 2022 (15:08 IST) गुवाहाटी। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने पश्चिम

Last Updated: शुक्रवार, 14 जनवरी 2022 (15:08 IST)
गुवाहाटी। रेलमंत्री ने पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी जिले में का शुक्रवार को दौरा किया, जहां गुरुवार को बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतरने के कारण हुए हादसे में 9 लोगों की मौत हो गई थी और कम से कम 36 अन्य लोग घायल हो गए हैं।
ALSO READ:

पश्चिम बंगाल में रेल हादसा, मृतक संख्या बढ़कर 7 हुई, 45 से अधिक घायल

पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) की प्रवक्ता ने बताया कि रेलमंत्री ने दुर्घटनास्थल पर पटरियों और रेल-इंजन (लोकोमोटिव) का निरीक्षण किया। हादसे के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है और इसकी जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया है।

पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी जिले में दोमोहानी के निकट गुरुवार को बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए थे और कुछ डिब्बे पलट गए थे। एनएफआर की प्रवक्ता गुनीत कौर ने बताया कि वैष्णव सुबह 9 बजकर 38 मिनट पर दोमोहानी रेलवे स्टेशन पहुंचे और 2 मिनट के भीतर एक मोटर ट्रॉली पर घटनास्थल के लिए रवाना हो गए।
कौर ने कहा कि उन्होंने पटरी और मरम्मत कार्यों की स्थिति का पता लगाने के लिए ट्रॉली से ही निरीक्षण किया। दुर्घटनास्थल पर मंत्री ने रेल-इंजन के 'अंडरफ्रेम' और उसके 'ब्रेकिंग सिस्टम' का गहन निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि एनएफआर के महाप्रबंधक अंशुल गुप्ता गुरुवार देर रात 12 बजकर 8 मिनट पर मौके पर पहुंचे और ट्रेनों की आवाजाही को सामान्य करने के लिए पटरियों के जीर्णोद्धार कार्य की निगरानी कर रहे हैं।
कौर ने कहा कि रेल के पटरी से उतरने के कारणों का पता लगाने के लिए एक जांच समिति का गठन किया गया है। हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 9 हो गई है जिनमें से 3 मृतकों की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है। हादसे में 36 अन्य लोग घायल हुए हैं। इनमें से 23 लोगों का इलाज जलपाईगुड़ी के 'सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल' में चल रहा है जबकि उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज में 6 लोग और मयनागुड़ी ग्रामीण अस्पताल में 7 लोग भर्ती हैं।
एनएफआर के महाप्रबंधक अंशुल गुप्ता गुरुवार रात और शुक्रवार तड़के विभिन्न अस्पतालों में पहुंचे और घायलों की स्थिति के बारे में जानकारी हासिल की। सीआरपीओ ने बताया कि यात्रियों को निकालने का काम गुरुवार रात करीब 10 बजे पूरा हो गया था और फंसे हुए 290 यात्रियों को लेकर एक विशेष ट्रेन रात करीब 9 बजकर 50 मिनट पर घटनास्थल से गुवाहाटी के लिए रवाना हुई।

विशेष पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) जीपी सिंह ने ट्वीट करके उस विशेष ट्रेन के सुबह करीब 8.30 बजे गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पहुंचने की जानकारी दी। एनएफआर ने गुरुवार को एक बयान में कहा था कि हादसे के समय ट्रेन में 1,053 यात्री सवार थे।
भारतीय रेलवे ने मृतक के परिजन को 5-5 लाख रुपए, गंभीर रूप से घायलों के लिए 1-1 लाख रुपए और मामूली रूप से घायल यात्रियों के लिए 25-25 हजार रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। सीआरपीओ ने बताया कि शुक्रवार को कम से कम 10 ट्रेनों को रद्द किया गया है। कुछ ट्रेनों की सेवाएं उनके गंतव्य स्टेशनों से पहले ही समाप्त जाएंगी जबकि कुछ ट्रेनों को उनके प्रस्थान स्टेशनों की बजाय दूसरे स्टेशनों से शुरू किया जाएगा, वहीं लंबी दूरी वाली अन्य 10 ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है।

About author
You should write because you love the shape of stories and sentences and the creation of different words on a page.