Home / Articles / क्लीन इंदौर के बाद अब ग्रीन इंदौर की बारी, बनेंगे 100 अहिल्या वन

क्लीन इंदौर के बाद अब ग्रीन इंदौर की बारी, बनेंगे 100 अहिल्या वन

क्लीन इंदौर के बाद अब ग्रीन इंदौर की बारी, बनेंगे 100 अहिल्या वन   Image
  • Posted on 03rd Aug, 2022 08:06 AM
  • 1398 Views

स्वतंत्रता के बाद ‍अहिल्या नगरी इंदौर को यूं तो कई महापौर मिले, लेकिन पुष्यमित्र भार्गव के रूप में पहली बार सबसे युवा और ऊर्जावान महापौर मिला है। वक्तृत्व कौशल के धनी भार्गव विधिवेत्ता भी हैं। इंदौर के विकास को लेकर 40 वर्षीय पुष्यमित्र के मन में कई योजनाएं हैं, जिन पर वे प्राथमिकता के आधार पर काम करना चाहते हैं। - Pushyamitra Bhargava said, 100 Ahilya Van will be built in Indore id="ram"> वृजेन्द्रसिंह झाला| हमें फॉलो करें स्वतंत्रता के बाद ‍अहिल्या नगरी

स्वतंत्रता के बाद ‍अहिल्या नगरी इंदौर को यूं तो कई महापौर मिले, लेकिन पुष्यमित्र भार्गव के रूप में पहली बार युवा और ऊर्जावान महापौर मिला है। वक्तृत्व कौशल के धनी भार्गव विधिवेत्ता भी हैं। इंदौर के विकास को लेकर 40 वर्षीय पुष्यमित्र के मन में कई योजनाएं हैं, जिन पर वे प्राथमिकता के आधार पर काम करना चाहते हैं। इंदौर के विकास से जुड़े मुद्दों पर उन्होंने वेबदुनिया के सवालों के बहुत ही सहजता से जवाब दिए।

आजादी के अमृत महोत्सव से जुड़े प्रश्न के जवाब में भार्गव ने कहा कि 75 सालों की यात्रा की बात करें तो इंदौर ने विकास की गति के अलग-अलग आयाम गढ़े हैं। शहर अपनी गौरवशाली परंपरा को आज भी बरकरार रखे हुए है। यहां के लोग धर्मप्रेमी हैं, उत्सव प्रेमी हैं। कोई भी व्यक्ति इंदौर आता है तो फिर वह यहीं का होकर रह जाता है। इंदौर ने ऐसे लोग भी दिए हैं, जिन्होंने देश और दुनिया में शहर का नाम रोशन किया है। यहां सभी मामलों में जनभागीदारी उच्च स्तर पर देखने को मिलती है। यही कारण है कि इंदौर शहर लगातार स्वच्छता के मामले में नंबर वन बना हुआ है।

बनाएंगे 100 : महापौर भार्गव ने कहा कि इंदौर स्वच्छता में लगातार 5 बार पहला स्थान हासिल कर चुका है। अब हमारी प्राथमिकता में ग्रीन इंदौर भी है। हालांकि इंदौर की जनता ने इस दिशा में पहले से ही प्रयास शुरू कर दिए हैं। शहर में कई बड़े और विकसित बगीचे हैं। हम इस दिशा में और अधिक काम करने की योजना बना रहे हैं। वृक्षारोपण के माध्यम से शहर की प्राणवायु को और ‍अधिक स्वच्छ बनाने का काम करेंगे। शहर के आसपास हरियाली को बढ़ावा देने के लिए 100 अहिल्या वनों का निर्माण करेंगे।
अव्यवस्थित यातायात बड़ी समस्या : भार्गव ने स्वीकार किया अव्यवस्थित यातायात शहर की सबसे बड़ी समस्या है। उन्होंने कहा कि हम इस मुद्दे को लगातार उठाते रहे हैं। यह भी जनजागरण से जुड़ा मुद्दा है, जब जनजागरण आंदोलन का रूप ले लेगा तो शहर की ट्रैफिक समस्या भी हल हो जाएगी। जनभागीदारी के कारण ही शहर स्वच्छता में नंबर वन बन पाया है।

उन्होंने कहा कि ट्रैफिक का मुद्दा हो या फिर कानून व्यवस्था का हम सबके सहयोग से मिलकर काम करेंगे। ट्रैफिक स्मूथ और सेफ रहे, इसके लिए केन्द्र सरकार द्वारा मोटर व्हीकल एक्ट में जो प्रावधान किए गए हैं, उन्हें ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ से समन्वय स्थापित कर लागू करेंगे।

बारिश में जलजमाव : बारिश के दिनों में जलजमाव के मुद्दे पर भार्गव ने कहा कि मैं इसे 'टीथिंग ट्रबल' के रूप में देखता हूं। नाला टेपिंग का काम पूरा होने पर इस समस्या से भी निजा‍त मिल जाएगी। भावी योजनाओं के बारे में पुष्यमित्र भार्गव कहते हैं कि हर घर स्वच्छ जल पहुंचे, सबको अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य मिले हम इस दिशा में पूरे मनोयोग से काम करेंगे।
वेबदुनिया की सराहना : विश्व के पहले हिन्दी पोर्टल वेबदुनिया की सराहना करते हुए इंदौर के महापौर भार्गव ने कहा कि वेबदुनिया ने जनता से जुड़े मुद्दों को उठाने के साथ ही हमारा संदेश भी लोगों तक पहुंचाया। वेबदुनिया के माध्यम से मैं सभी लोगों धन्यवाद देता हूं।

क्लीन इंदौर के बाद अब ग्रीन इंदौर की बारी, बनेंगे 100 अहिल्या वन View Story

Latest Web Story

Latest 20 Post