Home / Articles / उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहा 'अग्निपथ' का विरोध, लगातार चौथे दिन युवाओं ने किया प्रदर्शन

उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहा 'अग्निपथ' का विरोध, लगातार चौथे दिन युवाओं ने किया प्रदर्शन

देहरादून। उत्तराखंड में भी केंद्र सरकार की 'अग्निपथ' योजना का विरोध तेजी से बढ़ता जा रहा है।शनिवार को लालकुंवा में भी युवाओं ने जुलूस निकालकर इस योजना का विरोध किया। प्रदेश की धामी सरकार के लिए युवाओं के आक्रोश पर काबू पाना एक कठिन चुनौती के रूप में उभर रहा है। पुलिस-प्रशासन युवाओं के आक्रोश को दबाने के लिए कमर कस रहा है। - Opposition to Agnipath scheme growing rapidly in Uttarakhand id="ram"> एन. पांडेय| पुनः संशोधित रविवार, 19 जून 2022 (00:14 IST) हमें फॉलो करें देहरादून।

  • Posted on 18th Jun, 2022 20:06 PM
  • 1354 Views
उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहा 'अग्निपथ' का विरोध, लगातार चौथे दिन युवाओं ने किया प्रदर्शन   Image
एन. पांडेय| पुनः संशोधित रविवार, 19 जून 2022 (00:14 IST)
हमें फॉलो करें
देहरादून। में भी की 'अग्निपथ' योजना का विरोध तेजी से बढ़ता जा रहा है।शनिवार को लालकुंवा में भी युवाओं ने जुलूस निकालकर इस योजना का विरोध किया। प्रदेश की धामी सरकार के लिए युवाओं के आक्रोश पर काबू पाना एक कठिन चुनौती के रूप में उभर रहा है। पुलिस-प्रशासन युवाओं के आक्रोश को दबाने के लिए कमर कस रहा है।
राज्य में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस योजना को युवाओं के साथ छलावा बताते हुए इसके विरोध में खुलकर सामने आ गई है।देहरादून, हल्द्वानी, कोटद्वार, टनकपुर, चम्पावत समेत कई अन्य इलाकों में युवाओं ने लगातार चौथे दिन भी प्रदर्शन किए हैं।हल्द्वानी में पुलिस ने बेरोजगार युवाओं पर जमकर लाठियां बरसाईं और उनको तितर-बितर किया। प्रदर्शनकारी युवा लगातार कहीं न कहीं प्रदर्शन कर इस योजना के विरोध में सड़कों पर उतरते दिख रहे हैं।

उत्तराखंड के विभिन्न जिलों में इस योजना को लेकर बढ़ते बवाल को देखते हुए उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए।पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने जिलों में कोचिंग सेन्टर संचालकों एवं प्रदर्शनकारी युवाओं से वार्ता कर यह सुनिश्चित करने को कहा कि किसी भी स्थिति में शांति एवं कानून व्यवस्था प्रभावित न हो।

प्रदेश में किसी भी कीमत पर माहौल नहीं बिगड़ने दिया जाए। यदि कोई व्यक्ति असंवैधानिक तरीके से करके शांति एवं कानून व्यवस्था प्रभावित करता है, तो उसके विरुद्ध सख्त वैधानिक कार्यवाही की जाए।
File photo

Latest Web Story

Latest 20 Post