Home / Articles / गुजरात के आणंद में अंतरिक्ष से गिरी रहस्यमयी गोलाकार वस्तुएं, लोगों में दहशत

गुजरात के आणंद में अंतरिक्ष से गिरी रहस्यमयी गोलाकार वस्तुएं, लोगों में दहशत

आणंद। गुजरात के आणंद में अंतरिक्ष से अज्ञात गोलाकार वस्तुएं गिरने से हड़कंप मच गया। इन्हें देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी। हालांकि किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंच गई है और मामले की जांच कर रही है। - mysterious thing shell falls from sky in gujrat id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 13 मई 2022 (13:26 IST) आणंद। गुजरात के आणंद में अंतरिक्ष से अज्ञात

  • Posted on 13th May, 2022 08:10 AM
  • 1156 Views
गुजरात के आणंद में अंतरिक्ष से गिरी रहस्यमयी गोलाकार वस्तुएं, लोगों में दहशत   Image
Last Updated: शुक्रवार, 13 मई 2022 (13:26 IST)
आणंद। के आणंद में से अज्ञात गोलाकार वस्तुएं गिरने से हड़कंप मच गया। इन्हें देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी। हालांकि किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंच गई है और मामले की जांच कर रही है।

जिले के उमरेठ व भालेज थाना क्षेत्र में क्षेत्र के जितपुरा, दगजीपुर और खानकुवा गांवों में अंतरिक्ष से गोले जैसी भारी वस्तुएं गिरती देखी गई हैं।

सबसे पहले भालेज में काले धातु की 'गोले' जैसी चीज आसमान से गिरी, फिर खंभोलाज और रामपुरा में भी ऐसी ही घटना हुई।
पुलिस के अनुसार अंतरिक्ष से पृथ्वी पर गिरी वस्तु किसी उपग्रह से छोड़ा गया उपकरण प्रतीत हो रही है। दावा किया जा रहा है कि 'गोले' का वजन लगभग 5 किलो है।
इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं मिलने से व्यवस्था ने राहत की सांस ली है। मामले की सूचना संबंधित विभाग और एजेंसियों को दे दी गई है। इससे आम नागरिकों में डर का माहौल पैदा हो गया है।
महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में 2 अप्रैल को आसमान से दहकती हुई कुछ अज्ञात वस्तुएं गिरती दिखाई दीं, जिसके बाद सिंदेवाही तहसील के दो गांवों में लोहे के छल्ले और सिलेंडर नुमा वस्तुएं पाई गई हैं।
चंद्रपुर के जिलाधिकारी अजय गुलहाने ने बताया कि स्थानीय लोगों ने शनिवार को अपराह्न करीब 7.50 बजे सिंदेवाही तहसील के लाडबोरी गांव में खुले भूखंड में लोहे का एक छल्ला पड़ा देखा। लोहे का छल्ला पहले वहां नहीं था, इसलिए यह कहा जा सकता है कि यह शनिवार को आसमान से गिरा होगा। इस सिलेंडरनुमा वस्तु का व्यास एक से डेढ़ फुट था।

उस समय विशेषज्ञों ने अनुमान व्यक्त किया था कि ये या तो पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करने वाले उल्कापिंड हो सकते हैं या रॉकेट बूस्टर के टुकड़े हो सकते हैं, जो उपग्रह प्रक्षेपण के बाद गिर जाते हैं।

Latest Web Story

Latest 20 Post