Home / Articles / क्या आतंकी हमला था मोहाली में इंटेलिजेंस बिल्डिंग के बाहर हुआ धमाका?

क्या आतंकी हमला था मोहाली में इंटेलिजेंस बिल्डिंग के बाहर हुआ धमाका?

चंडीगढ़। पंजाब के मोहाली में पुलिस के खुफिया इकाई के मुख्यालय परिसर में सोमवार रात रॉकेट चालित ग्रेनेड से हमला किया गया, जिससे इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए। हालांकि, इससे हुए विस्फोट में कोई घायल नहीं हुआ, लेकिन राजनीतिक दलों ने इसे चिंताजनक और चौंकाने वाला करार दिया। - Mohali blast : Is it terrorist attack id="ram"> पुनः संशोधित मंगलवार, 10 मई 2022 (07:52 IST) चंडीगढ़। पंजाब के मोहाली में पुलिस के

  • Posted on 10th May, 2022 02:35 AM
  • 1003 Views
क्या आतंकी हमला था मोहाली में इंटेलिजेंस बिल्डिंग के बाहर हुआ धमाका?   Image
पुनः संशोधित मंगलवार, 10 मई 2022 (07:52 IST)
चंडीगढ़। पंजाब के मोहाली में पुलिस के खुफिया इकाई के मुख्यालय परिसर में सोमवार रात रॉकेट चालित ग्रेनेड से हमला किया गया, जिससे इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए। हालांकि, इससे हुए विस्फोट में कोई घायल नहीं हुआ, लेकिन राजनीतिक दलों ने इसे चिंताजनक और चौंकाने वाला करार दिया।

यह धमाका शाम करीब 7.45 बजे मोहाली के सेक्टर 77 स्थित कार्यालय में हुआ। विस्फोट के कारण इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए।

मोहाली पुलिस ने एक बयान में कहा, 'शाम 7.45 बजे सेक्टर 77, एसएएस नगर में खुफिया मुख्यालय परिसर में एक मामूली विस्फोट की सूचना मिली। किसी नुकसान की सूचना नहीं है। वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर हैं और मामले की जांच की जा रही है। फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है।'
अधिकारी ने कहा, 'विस्फोट एक रॉकेट दागे जाने जैसा था। कोई हताहत नहीं हुआ है।' उन्होंने बताया कि फॉरेंसिक टीम भी घटनास्थल पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि घटना को लेकर एक प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। यह पूछे जाने पर कि क्या यह आतंकी हमला है, तो उन्होंने कहा कि जांच जारी है।

चंडीगढ़ पुलिस की एक त्वरित प्रतिक्रिया टीम को भी खुफिया कार्यालय भवन के पास तैनात किया गया। पंजाब पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने बताया कि आरोपी को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है। यह विस्फोट 24 अप्रैल को चंडीगढ़ की बुड़ैल जेल के पास एक विस्फोटक उपकरण की बरामदगी के बाद हुआ है।
क्यों जताई जा रही है आतंकी हमले की आशंका : यह हमला रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG) से किया गया है। इस तरह का ग्रेनेड आतंकवादी वारदात में ही इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में इस घटना को सामान्य धमाके के तौर पर नहीं देखा जा सकता है। पंजाब में पिछले कुछ दिनों से खालिस्तानी गतिविधियां बढीं है। इस घटना के एक दिन पहले ही पंजाब से सटे राज्य हिमाचल प्रदेश में विधानसभा के मुख्य गेट पर खालिस्तान समर्थक झंडे दिखने से हड़कंप मच गया था।
नेताओं ने जताई चिंता : पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने विस्फोट पर हैरानी व्यक्त की और मुख्यमंत्री भगवंत मान से इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आग्रह किया। सिंह ने ट्वीट किया, 'मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया इकाई मुख्यालय परिसर में विस्फोट के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं। गनीमत रही कि किसी को चोट नहीं आई। हमारे पुलिस बल पर यह हमला बेहद चिंताजनक है और मैं मुख्यमंत्री भगवंत मान से आग्रह करता हूं कि अपराधियों को जल्द से जल्द न्याय के कटघरे में लाया जाए।'
पंजाब के पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस विधायक सुखजिंदर सिंह रंधावा ने विस्फोट को गहरी सांप्रदायिकता का संकेत करार दिया। उन्होंने कहा, 'मोहाली में बम विस्फोट गहरी सांप्रदायिकता का संकेत है। मैं इस घटना की कड़ी निंदा करता हूं और पुलिस से पंजाब की शांति भंग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आग्रह करता हूं।'

शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि वह विस्फोट से स्तब्ध हैं। उन्होंने ट्वीट किया, 'पंजाब पुलिस के खुफिया ब्यूरो मुख्यालय, मोहाली में हुए विस्फोट से स्तब्ध हूं। इससे गंभीर सुरक्षा चूक और पंजाब में बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति एक बार फिर उजागर हो गई है। जिम्मेदार लोगों को बेनकाब करने और दंडित करने के लिए गहन जांच की आवश्यकता है।'

Latest Web Story

Latest 20 Post