Home / Articles / नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मलविंदर सिंह माली ने पद छोड़ा

नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मलविंदर सिंह माली ने पद छोड़ा

नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मलविंदर सिंह माली ने पद छोड़ा   Image
  • Posted on 04th Sep, 2021 07:45 AM
  • 1076 Views

चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर सिंह माली ने यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया है कि उनकी जान को खतरा है और ऐसा होने पर राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह जिम्मेदार होंगे। माली, सिद्धू के सलाहकार थे। id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 27 अगस्त 2021 (14:59 IST) चंडीगढ़। चंडीगढ़। कश्मीर पर अपनी विवादित

Last Updated: शुक्रवार, 27 अगस्त 2021 (14:59 IST)

चंडीगढ़। चंडीगढ़। कश्मीर पर अपनी विवादित टिप्पणियों को लेकर आलोचनाओं से घिरे मलविंदर सिंह माली ने शुक्रवार को पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के का पद छोड़ दिया, हालांकि माली ने इसे 'इस्तीफा' नहीं कहा। माली ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा कि मैं विनम्रतापूर्वक कहता हूं कि मैं नवजोत सिंह सिद्धू को सुझाव देने के लिए दी गई अपनी सहमति वापस लेता हूं। माली ने एक अन्य फेसबुक पोस्ट में दावा किया कि उनके इस्तीफे का सवाल ही नहीं उठता, क्योंकि उन्होंने कभी इस पद को स्वीकार नहीं किया था। उन्होंने पंजाबी में किए गए एक पोस्ट में कहा कि न तो कोई पद स्वीकार किया था और न ही किसी पद से इस्तीफा दिया है।
ALSO READ:
PM मोदी के बयान से झल्लाया तालिबान, प्रमुख नेता ने कहा- सफल रहेगा उनका संगठन

पंजाब में सत्ता संघर्ष के बीच मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने रविवार को सिद्धू से कहा था कि वह अपने सलाहकारों को काबू में रखें। सिंह ने यह बात सिद्धू के दो सलाहकारों द्वारा कश्मीर और पाकिस्तान जैसे संवेदनशील मुद्दों पर बेतुकी टिप्पणी के बाद कही थी। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत ने भी कहा था कि दोनों सलाहकारों को जाने की जरूरत है। सिद्धू ने 11 अगस्त को पूर्व सरकारी शिक्षक एवं राजनीतिक विश्लेषक माली और बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ एंड साइंसेज के पूर्व रजिस्ट्रार प्यारे लाल गर्ग को अपना सलाहकार नियुक्त किया था।


माली ने हाल ही में एक सोशल मीडिया पोस्ट में संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द करने के मुद्दे पर बात की थी जिसके तहत तत्कालीन राज्य जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा प्राप्त था। उन्होंने कथित तौर पर कहा था कि यदि कश्मीर भारत का हिस्सा था तो अनुच्छेद 370 और 35ए की क्या जरूरत थी? उन्होंने यह भी कहा था कि कश्मीर, कश्मीरी लोगों का देश है। सिद्धू के एक अन्य सलाहकार गर्ग ने मुख्यमंत्री द्वारा पाकिस्तान की आलोचना किए जाने पर कथित तौर पर सवाल उठाया था। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ऐसी आपत्तिजनक और बेतुकी टिप्पणियों को लेकर आगाह किया था, जो राज्य और देश की शांति व स्थिरता के लिए संभावित रूप से खतरनाक हैं।(भाषा)

नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मलविंदर सिंह माली ने पद छोड़ा View Story

Latest Web Story

Latest 20 Post