Home / Articles / हम्पी, वैशाली ने महिला वर्ग में भारत को जॉर्जिया पर जीत दिलाई

हम्पी, वैशाली ने महिला वर्ग में भारत को जॉर्जिया पर जीत दिलाई

हम्पी, वैशाली ने महिला वर्ग में भारत को जॉर्जिया पर जीत दिलाई   Image
  • Posted on 03rd Aug, 2022 17:36 PM
  • 1023 Views

कोनेरू हम्पी ने महिला सर्किट की शीर्ष खिलाड़ियों में से एक नाना डेजग्निडेज पर बड़ी जीत हासिल की। उनके इस चमकदार प्रदर्शन की बदौलत भारत-ए ने तमिलनाडु के मामल्लापुरम में जारी 44वें शतरंज ओलंपियाड में बुधवार को महिला वर्ग के छठे राउंड के मैच में तीसरी वरीयता प्राप्त जॉर्जिया को 3-1 से हरा दिया। - Koneru Humpi and Vaishali guides India to victory over Georgia id="ram"> पुनः संशोधित बुधवार, 3 अगस्त 2022 (22:55 IST) हमें फॉलो करें मामल्लापुरम:कोनेरू

पुनः संशोधित बुधवार, 3 अगस्त 2022 (22:55 IST)
हमें फॉलो करें
मामल्लापुरम:कोनेरू हम्पी ने महिला सर्किट की शीर्ष खिलाड़ियों में से एक नाना डेजग्निडेज पर बड़ी जीत हासिल की। उनके इस चमकदार प्रदर्शन की बदौलत भारत-ए ने तमिलनाडु के में जारी 44वें में बुधवार को महिला वर्ग के छठे राउंड के मैच में तीसरी वरीयता प्राप्त जॉर्जिया को 3-1 से हरा दिया।

हम्पी के अलावा, आर. वैशाली ने उम्दा प्रदर्शन किया। वैशाली ने एक उच्च श्रेणी की खिलाड़ी लैला जवाखिस्विली को हराया, जबकि तानिया सचदेव और हरिका द्रोणावल्ली ने ड्रॉ हासिल किया। इन सबकी बदौलत भारत ने यह मैच अपने नाम किया।

मैच के मध्य भाग तक हम्पी पूर्ण नियंत्रण में थीं। उनके लगभग सभी मोहरे सुरक्षित स्थिति में थे और साथ ही साथ विपक्षी खिलाड़ी के मोहरों पर हमला करते हुए भी दिखाई दे रहे थे। सावधानी से खेलते हुए हम्पी ने अपनी विपक्षी खिलाड़ी को समय-समय पर मोहरों के आदान-प्रदान को मजबूर किया और 42वें टर्न पर जब भारतीय बिशप और क्वीन ने एक मोहरा जीतने के लिए कदम बढ़ाया तो डेजग्निडेज ने हथियार डाल दिया।

मैच के बाद हम्पी ने कहा, “मैं टूर्नामेंट के इस चरण में पदक के बारे में नहीं सोच रही हूं क्योंकि हमें अभी भी यूक्रेन जैसी कई और कठिन टीमों के खिलाफ खेलना है। हमारी टीम भावना ऊंची है और जब भी जीत की जरूरत होती है, हमेशा टीम का कोई एक खिलाड़ी चमकता है। ”हम्पी ने बाद में स्वीकार किया कि नाना द्वारा बेनोनी डिफेंस के चुनाव करने से वह पूरी तरह से हैरान थीं और उन्होंने शुरुआत में कुछ संदिग्ध चालें चलीं। नाना को एक एक लिहाज से सुखद स्थिति मिल गई थी लेकिन जल्द ही हम्पी ने कुछ सटीक चालों की मदद से स्थिति बदल दी।

हम्पी ने कहा, "मैं ढाई साल बाद खेल रही हूं और शुरुआती पलों में वास्तव में संघर्ष किया। आज भी मेरा खेल हमेशा की तरह लंबा था।”

दूसरी ओर, वैशाली और जवाखिशविली के बीच स्पैनिश ओपनिंग में आक्रामक प्रतिस्पर्धा हुई। जवाखिशविली काफी आक्रामक नजर आ रही थीं। खेल का अधिकांश भाग क्वीन-साइड पर केंद्रित था और वैशाली ने 17वें टर्न पर एक बिशप के लिए एक रूक की बलि दी और इसके लिए दो मोहरे हासिल किए। वैशाली 36 चालों के बाद एक अंक हासिल किया।

भारत ए महिला टीम के कोच अभिजीत कुंटे ने जीत के बाद अपने बयान में कहा, "यह जॉर्जिया के खिलाफ एक बहुत ही महत्वपूर्ण जीत है। हम कल (गुरुवार को) आराम करेंगे। शुरुआत में कुछ दबाव था क्योंकि हमारे पास समय कम था लेकिन मध्य का खेल अच्छा था। ” टीम ने छह जीत के साथ कुल 12 अंक जुटाए हैं और वह एकल रूप से लीड पर है।

भारत और जॉर्जिया के साथ बीती रात तक संयुक्त रूप से शीर्ष पर कायम रोमानिया को यूक्रेन ने 2-2 से ड्रॉ पर रोक दिया, जबकि अजरबैजान ने कजाकिस्तान को 3-1 से हराया। इसी तरह पोलैंड ने सर्बिया को 4-0 से हरा दिया।

इस बीच, डी. गुकेश ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने अपनी लगातार छठी जीत दर्ज की। हालांकि उनका प्रयास व्यर्थ चला गया क्योंकि भारत-बी ओपन सेक्शन में आर्मेनिया से 1.5-2.5 के अंतर से हार गया। निहाल सरीन ने दूसरे बोर्ड में ड्रॉ किया जबकि अधिबन बी और रौनक साधवानी को हार का सामना करना पड़ा। दूसरी ओर, भारत-सी टीम ने लिथुआनिया पर 3.5-1.5 के अंतर से जीत दर्ज की, जबकि दूसरी वरीयता प्राप्त भारत-ए को उज्बेकिस्तान ने 2-2 से ड्रॉ पर रोक दिया।(वार्ता)

हम्पी, वैशाली ने महिला वर्ग में भारत को जॉर्जिया पर जीत दिलाई View Story

Latest Web Story

Latest 20 Post