मजनुओं को सबक सिखाने के लिए तैयार मर्दानी

मजनुओं को सबक सिखाने के लिए तैयार मर्दानी   Image
  • Posted on 22nd Sep, 2022 14:52 PM
  • 1127 Views

देवी आराधना के 9 दिनी नवरात्रि पर्व से पहले जहां एक ओर गरबा पंडालों में महिलाएं और युवतियां गरबा प्रेक्टिस में जुटी हैं वहीं दूसरी ओर आत्मरक्षा का अभ्यास शिविर लगाकर सामाजिक कार्यकर्ता मालासिंह ठाकुर ने बहनों-माताओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए। आयोजन में कॉलेज में पढ़ने वालीं छात्राओं को मजनुओं से निपटने और अपनी रक्षा स्वंय करने के मंत्र दिए गए। - Karate training to girl students and women in Indore id="ram"> पुनः संशोधित गुरुवार, 22 सितम्बर 2022 (20:07 IST) हमें फॉलो करें इंदौर। देवी

पुनः संशोधित गुरुवार, 22 सितम्बर 2022 (20:07 IST)
हमें फॉलो करें
इंदौर। देवी आराधना के 9 दिनी नवरात्रि पर्व से पहले जहां एक ओर गरबा पंडालों में महिलाएं और युवतियां गरबा प्रेक्टिस में जुटी हैं वहीं दूसरी ओर आत्मरक्षा का अभ्यास शिविर लगाकर सामाजिक कार्यकर्ता मालासिंह ठाकुर ने बहनों-माताओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए।


संस्था पुण्याति के बैनर तले हुए इस आयोजन में कॉलेज में पढ़ने वालीं छात्राओं को मजनुओं से निपटने और अपनी रक्षा स्वंय करने के मंत्र दिए गए। नवरात्रि में देर रात घर लौटने वालीं युवतियों को अपनी रक्षा अपने हाथ का संकल्प दिलाकर ये अभ्यास कराया जा रहा है ताकि किसी भी प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करने में बहनें सक्षम बनें और आत्मरक्षा कैम्प उनके लिए सहायक साबित हो सके। अब तक माला ठाकुर के निर्देशन में 15 से ज्यादा कॉलेजों में ये सेल्फ डिफेंस कैम्प लगाए जा चुके हैं और नवरात्रि से पहले युवतियों और महिलाओं को आत्मरक्षा के मामले में सक्षम बनाने के लिए ये कैंप सतत जारी हैं।
सबल नारी, सशक्त समाज उद्घोष के साथ विगत 15 दिनों से विभिन्न महाविद्यालयों एवं कोचिंग संस्थानों में पुण्याति द्वारा आत्मरक्षा शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें हजारों बहनों ने सहभागिता की।
महिलाओं को आत्म निर्भर, स्वावलंबी एवं सशक्त बनाने, बच्चों में मौलिक शिक्षा का जागरण करने, युवा पीढ़ी को नशे की लत से दूर करने, समाज को पर्यावरण से जोड़ने.. जैसे उद्देश्यों को लेकर पुण्याती वेलफेयर फाउंडेशन समाज में कार्यरत है।
प्रशिक्षक मार्शल आर्ट ट्रेनर मनीष आर्य के साथ सहायक प्रशिक्षक श्रष्टि तिवारी, काशवी परमार, नताशा गुर्जर, सूरज वैष्णव, अविनाश राठौर और पूर्वी आर्य ने विषम परिस्थितियों का सामना करने के लिए मार्शल आर्ट की विभिन्न तकनीकों को सिखाने के साथ ही स्टेमिना बढ़ाने, संतुलित भोजन करने के विषय में भी सभी को जागरूक किया।


मजनुओं को सबक सिखाने के लिए तैयार मर्दानी View Story

Latest Web Story