Home / Articles / फार्मेसी रिटेल और सप्लाई चेन के लिए आने वाला है सुनहरा समय

फार्मेसी रिटेल और सप्लाई चेन के लिए आने वाला है सुनहरा समय

स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र पर इतना ध्यान कभी नहीं दिया गया जितना पिछले दो वर्षों में दिया गया है। कोरोना महामारी इसकी वजह बनी। कोरोनाकाल में खरीदी बिक्री में नई तकनीक और बाहरी फंडिंग इस सेक्टर में आई। फार्मा के रिटेल सेक्टर और सप्लाई चेन ने सबसे अधिक ध्यान खींचा। ऑफलाइन रिटेल की तुलना में ई फार्मेसियों में अधिक निवेश आया। id="ram"> Last Updated: मंगलवार, 25 जनवरी 2022 (00:23 IST) स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र पर इतना ध्यान कभी नहीं

  • Posted on 25th Jan, 2022 00:00 AM
  • 1433 Views
फार्मेसी रिटेल और सप्लाई चेन के लिए आने वाला है सुनहरा समय   Image
Last Updated: मंगलवार, 25 जनवरी 2022 (00:23 IST)
स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र पर इतना ध्यान कभी नहीं दिया गया जितना पिछले दो वर्षों में दिया गया है। कोरोना महामारी इसकी वजह बनी। कोरोनाकाल में खरीदी बिक्री में नई तकनीक और बाहरी फंडिंग इस सेक्टर में आई। फार्मा के रिटेल सेक्टर और ने सबसे अधिक ध्यान खींचा। ऑफलाइन रिटेल की तुलना में ई फार्मेसियों में अधिक निवेश आया।


हाल ही में बड़े खेल आयोजनों में बड़े खिलाड़ी इसके विज्ञापन का हिस्सा बने। कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच बाजार पर कब्जा जमाने और ब्रांड बनाने के लिए विज्ञापन पर तगड़ा खर्च किया गया। 2015-2017 के बीच कई स्टार्ट-अप आए।
ग्राहकों को ऑनलाइन प्लेटफार्म पर दवाएं ऑर्डर करने के लिए कई आकर्षक छूट दी गई, जो पहले कभी नहीं देखी गई थी। 2018-19 में छोटे-मोटे अधिग्रहण भी देखे, जो अभी चल रहे हैं। शुरुआत में ऑफलाइन और ऑनलाइन बिजनेस मॉडल्स को स्पष्ट रूप से देख सकते थे। 2021 के आते-आते इनकी पारदर्शिता में धुंधलापन आ गया है। विलय और अधिग्रहण और नए सहित इन कंपनियों द्वारा पेश की गई सेवाएं या उत्पाद जैसी गतिविधियों को देखकर यही कहा जा सकता है।

तीन तरह के खिलाड़ी

इस सेक्टर में 3 तरह के खिलाड़ी हैं। पहले ऑनलाइन जिन्होंने ऑफलाइन स्टोर्स जैसी सर्विस देना शुरू किया। दूसरे ऑफ़लाइन स्टैंडअलोन स्टोर है, जो बिना किसी ऑनलाइन कैपिबिलिटी के अपने प्रभाव तक ही सीमित हैं। तीसरे ऑर्गेनाइज्ड ऑफलाइन रिटेल है, जिनके पास खुद का ऑनलाइन चैनल है। ऑफलाइन प्लेयर्स के पास सीमित मात्रा का क्षेत्र है या यूं कहें कि कुछ राज्य जबकि ऑनलाइन में सीमाएं लागू नहीं होती हैं जब तक उनका लॉजिस्टिक टाई अप बरकरार है।

ऑर्डर देने की आसानी, होम डिलेवरी, डिस्काउंट ई-फार्मेसी की यूएसपी है। यह स्थानीय फार्मेसियों के लिए निश्चित रूप से एक खतरा है। इन्हें देखते हुए कई स्थानीय फार्मेसी ने भी बड़े साइन बोर्ड पर छूट देना शुरू किया है। इसके साथ ही वे लोकल एरिया में व्हाट्‍सएप और कॉल के माध्य से होम डिलेवरी करने लगे हैं। इससे ऑनलाइन को एक चुनौती मिली है। वे ग्राहकों को फायदा आकर्षित करने के लिए तुरंत डिलेवरी पर ध्यान रहे हैं।

हालांकि ऑनलाइन को अपना व्यापार बढ़ाने के लिए और डिस्काउंट देने चाहिए। लेकिन इससे मुनाफे पर असर पड़ेगा। ऑनलाइन प्लेयर्स के लिए डिस्काउंट के साथ प्रतिस्पर्धा में खड़े रहना भी कठिनाई भरा है। कई ऑनलाइन ग्राहक मोबाइल ऐप के माध्यम से आराम से ई-फार्मेसिस का इस्तेमाल कर रहे हैं। सामान्य रूप से ऐसे रोगी इनका लक्ष्य हो सकते हैं, जिन्हें मासिक आधार पर दवाइयां चाहिए। ऐसे ग्राहक भी जो अपने हेल्थ खर्च को कम करना चाहते हैं।

ऐसे कई ग्राहक जिन्हें प्रस्काइब्ड खुराक तुरंत चाहिए। कई मामलों ये लोकल फार्मेसी स्टोर्स से ही दवाइयां लेते हैं। ऐसी स्थितियों में अधिकांश दवाईयों पर छूट उनके लिए मायने नहीं रखती है। हालांकि आए दिन ऑफलाइन में भी इन्हें डिस्काउंट दिया जाता है। इसके लिए ऑनलाइन को धन्यवाद, जिनके प्रतिस्पर्धा में रहने से ग्राहकों को छूट का लाभ मिलता है।

इन सब छूट के बीच भी ग्राहक सेवा महत्वपूर्ण हो जाती है। ऑनलाइन खिलाड़ी अपनी खुद की लॉजिस्टिक इन्वेंट्री इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने का प्रयत्न कर रहे हैं और इस तरह अपने कैपेक्स को बढ़ा रहे हैं, या इन्वेंट्री सपोर्ट के लिए स्थानीय खुदरा विक्रेताओं के साथ गठजोड़ कर रहे हैं। इसके लिए मार्जिन को बांटने की आवश्यकता है, जो पहले से ही दबाव में है।
ऑनलाइन में कम होते मार्जिन को और बढ़ाया जा सकता है। इनमें से कुछ डायग्नोस्टिक्स, प्रयोगशालाओं, डॉक्टर परामर्श आदि के क्षेत्रों में अपनी सेवा की पेशकश का विस्तार कर रहे हैं, जो सिंगल पॉइंट इंटीग्रेटेड हेल्थकेयर प्रदाता बनने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि इनमें कुछ परेशानियां भी हैं।

स्टैंडअलोन फार्मेसी
इस सब में, कम मात्रा वाले स्टैंडअलोन फार्मेसियों के लिए अधिकतम खतरा है, जिसमें ज्यादा भाव-ताव नहीं है
। वसूली की शक्ति के साथ ग्राहक को छूट दी जाती है। हालांकि हर ग्राहक डिस्काउंट की चाहत रखने वाला नहीं है। एक बार सरकारी विनियमन या अनुपालन बन जाने के बाद जरूरी है कि वे अपनी लागत बढ़ाए बिना अपने लक्ष्य को हासिल करें। लगभग सभी ऑफ़लाइन फ़ार्मेसी खिलाड़ियों को जल्द या बाद में टेक्नोलॉजी को अपनाना होगा यदि पहले से नहीं किया गया है।
टेक सक्षम ऑर्गेनाइज्ड रिटेल चेन्स
धीरे-धीरे लेकिन निश्चित रूप से छोटे स्टैंडअलोन स्टोरों को अपने दम पर अधिक कुशल बनने या बनने की आवश्यकता होगी। तकनीक-सक्षम संगठित सीरीज का हिस्सा और बैकएंड आपूर्ति श्रृंखला एकीकरण से फायदा लें। वर्तमान में लगभग 6500 स्टोर संगठित खुदरा रिटेल चैन्स में शामिल हैं।

हाल के वर्षों में स्टोर दोगुने हो गए हैं और अगले कुछ वर्षों में 30% से अधिक की दर से बढ़ते रहेंगे। इन ज्यादातर दो प्रमुख खिलाड़ियों अपोलो फार्मेसी और मेडप्लस के बीच बंटे हैं और फिर हैं 50 से 200 स्टोर वाले अन्य जैसे वेलनेस फॉरएवर, नोबल और ईज़ीमेडिको आदि। उनमें से अधिकांश की क्षेत्रीय उपस्थिति है।
सप्लाई चेन और मैन्यूफैक्चरिंग

लगातार विकसित हो रहा परिदृश्य और जीएसटी भारत को एक बाजार बना रहा है, जो निर्माताओं को फिर से देखने के लिए मजबूर कर रहा है। इसकी आपूर्ति श्रृंखला में। निर्मार्ता इन खुदरा सप्लाई चेन
और ई-फार्मेसियों को बड़ा मानने लगे हैं खुदरा विक्रेता, एफएमसीजी में आधुनिक व्यापार की तरह।

यह बेहतर पर सीधी खरीद के लिए द्वार खोल रहा है मार्जिन। यह जल्द या बाद में होने की उम्मीद थी और इन खुदरा विक्रेताओं के लिए एक स्वागत योग्य संकेत है। टेक-सक्षम संगठित सप्लाई चेन भी निर्माताओं के लिए अनुकूल है क्योंकि यह उन्हें प्राप्त करने की अनुमति देता है। FMCG आधुनिक रिटेल की अवधारणा में नशीली दवाओं के उपयोग और पालन का अधिक सटीक डेटा, विपणन रणनीतियों को फिर से परिभाषित करना और उनकी नकल करने जैसे कदमों पर सतर्क कर करता है।
विचार

पिछले दो सालों के विकास ने तेजी से निवेश और एमएंडए गतिविधियों को बढ़ावा दिया है, हालांकि ज्यादातर में
ई-फार्मेसी चैनल। हालांकि, हाल ही में प्रमुख ऑफलाइन प्लेयर का सफल आईपीओ और उसका प्रीमियम
स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्ध होने से ऑफलाइन संगठित के लिए निवेश भावनाओं को बदल सकता है या पुनर्जीवित कर सकता है। आखिर बाजार ने मुनाफा कमाने वाले खिलाड़ी को इनाम दिया है, जो उद्योग के लिए एक अच्छा संकेत है। इन सबकी दौड़ में एक स्पष्ट विजेता बनेगा या नहीं। आगे एक लंबी दौड़ है और हम निश्चित रूप से इसमें हैं।

Latest Web Story

Latest 20 Post