किताब में फिक्सिंग की बात को लेकर भारतीय हॉकी खिलाड़ी नाराज, करेंगे केस

किताब में फिक्सिंग की बात को लेकर भारतीय हॉकी खिलाड़ी नाराज, करेंगे केस   Image
  • Posted on 22nd Sep, 2022 16:41 PM
  • 1382 Views

भारत की पुरुष और महिला हॉकी टीमों ने शनिवार को पूर्व मुख्य कोच सोजर्ड मारिन की नयी किताब में लगाये गये आरोपों पर कड़ी आपत्ति जताई और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी। कोच मारिन ने अपनी किताब "विल पावर: दी इन्साइड स्टोरी ऑफ दी इंक्रेडिबल टर्नअराउंड इन इंडियन हॉकी" में आरोप लगाया है कि पुरुष टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह के कहने पर एक खिलाड़ी ने जानबूझकर खराब प्रदर्शन किया था। - Indian hockey teams flay ex-coach Sjoerd Marijne id="ram"> पुनः संशोधित शनिवार, 17 सितम्बर 2022 (19:09 IST) हमें फॉलो करें बेंगलुरु: भारत की

पुनः संशोधित शनिवार, 17 सितम्बर 2022 (19:09 IST)
हमें फॉलो करें
बेंगलुरु: भारत की पुरुष और महिला हॉकी टीमों ने शनिवार को पूर्व मुख्य कोच सोजर्ड मारिन की नयी किताब में लगाये गये आरोपों पर कड़ी आपत्ति जताई और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी।
कोच मारिन ने अपनी किताब "विल पावर: दी इन्साइड स्टोरी ऑफ दी इंक्रेडिबल टर्नअराउंड इन इंडियन हॉकी" में आरोप लगाया है कि पुरुष टीम के कप्तान के कहने पर एक खिलाड़ी ने जानबूझकर खराब प्रदर्शन किया था।

मारिन के अनुसार 2017 में जब वह भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कोच थे, तब उन्होंने एक युवा खिलाड़ी को 2018 में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिये चुना था। मारिन उस युवा खिलाड़ी की सफलता को लेकर बहुत सकारात्मक थे लेकिन वह खिलाड़ी उस स्तर का प्रदर्शन नहीं कर सका।

कोच मारिन ने कहा कि पहले उन्हें संशय हुआ कि खिलाड़ी दबाव के कारण अच्छा नहीं खेल पा रहा, लेकिन बाद में उन्हें पता चला कि मनप्रीत ने कथित तौर पर खिलाड़ी से "इतना अच्छा न खेलने के लिये" कहा है, ताकि वह अपनी पसंद के खिलाड़ी को टीम में ला सकें।

इस आरोप पर आपत्ति जताते हुए खिलाड़ियों ने कहा है कि यह पूरी तरह से विश्वास का उल्लंघन है और इससे खिलाड़ी पूरी तरह असुरक्षित महसूस करेंगे।

उन्होंने कहा, "हमने आज प्रेस में भूतपूर्व मुख्य कोच सोजर्ड मारिन द्वारा लगाये गये कुछ परेशान करने वाले आरोप देखे हैं। हम अपनी व्यक्तिगत जानकारी के दुरुपयोग और झूठे आरोपों पर अपनी गहरी निराशा व्यक्त करने के लिए एक साथ आये हैं। उन्होंने हमारे कोचिंग के समय का उपयोग व्यावसायिक लाभ के लिए, हमारी प्रतिष्ठा के बदले अपनी पुस्तक को बेचने के लिए किया है।"

हॉकी इंडिया में मारिन का प्रवेश 2017 में हुआ जब उन्हें भारतीय महिला टीम का कोच चुना गया। उन्हें इसी साल पुरुष टीम का भी कोच चुना गया, लेकिन वह बाद में महिला टीम की ओर लौट आये और 2021 तक मुख्य कोच के पद पर बने रहे।

खिलाड़ियों ने कहा, "हम सामूहिक रूप से सोजर्ड मारिन से सवाल करना चाहेंगे कि यदि उनकी निगरानी में ऐसी कोई घटना हुई है तो हॉकी इंडिया या भारतीय खेल प्राधिकरण के पास शिकायत का रिकॉर्ड होना चाहिए। अधिकारियों से जांच करने पर हमें शिकायत का ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं मिला है।"

उन्होंने कहा, "भारतीय राष्ट्रीय पुरुष और महिला हॉकी टीम एक-दूसरे के साथ खड़ी है और हमारी अखंडता की रक्षा करेगी, जिस पर उनके द्वारा सवाल उठाया गया है। हमारा देश, टीम और हॉकी का खेल हमारी सामूहिक सर्वोच्च प्राथमिकता है। हम किसी भी परिस्थिति में एक व्यक्ति के निजी लाभ के लिये हमारी टीम के किसी सदस्य की प्रतिष्ठा से समझौता करने की अनुमति नहीं देंगे। हम सोजर्ड मारिन और उस पुस्तक के प्रकाशक हार्पर कॉलिन्स के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की प्रक्रिया में हैं।"(वार्ता)

किताब में फिक्सिंग की बात को लेकर भारतीय हॉकी खिलाड़ी नाराज, करेंगे केस View Story

Latest Web Story