Home / Articles / छाछ : गर्मियों में जानिए इसे पीने का सही तरीका, नहीं बिगड़ेगा डाइजेशन

छाछ : गर्मियों में जानिए इसे पीने का सही तरीका, नहीं बिगड़ेगा डाइजेशन

छाछ का सेवन भुने जीरे के साथ किया जाए, तो पाचन अच्छे से होता है और पेट की गर्मी व अन्य समस्याओं से बचा जा सकता है। यह तरलता बनाए रखने में भी मददगार है।आइए,जानते हैं छाछ पीने के फायदे और नुस्खे -Benefits of Buttermilk - health and Beauty Benefits of Buttermilk id="ram"> छाछ जिसे बटर मिल्क भी कहा जाता है,सभी लोगों को पसंद होती है। नियमित छाछ पीने

  • Posted on 13th May, 2022 00:00 AM
  • 1105 Views
छाछ : गर्मियों में जानिए इसे पीने का सही तरीका, नहीं बिगड़ेगा डाइजेशन   Image
जिसे बटर मिल्क भी कहा जाता है,सभी लोगों को पसंद होती है। नियमित छाछ पीने से न केवल को फायदा पहुंचता है बल्कि दिमाग को भी ठंडक मिलती है, साथ ही त्वचा पर भी इसका अच्छा असर होता है। छाछ को पीने के अलावा इसके कुछ नुस्खे भी है जिन्हें आप आजमा सकते हैं। आइए,जानते हैं छाछ पीने के फायदे और नुस्खे -
छाछ का सेवन भुने जीरे के साथ किया जाए, तो अच्छे से होता है और पेट की गर्मी व अन्य समस्याओं से बचा जा सकता है। यह तरलता बनाए रखने में भी मददगार है।

मोटापा अधिक होने पर छाछ को छौंककर सेंधा नमक डालकर पीने से फायदा होता है। उच्च रक्तचाप होने पर गिलोय का चूर्ण मट्ठे के साथ लेना चाहिए। वहीं सुबह-शाम मट्ठा या दही की पतली लस्सी पीने से स्मरण शक्ति तेज होती है।

बार-बार हिचकी आने की समस्या हो, तो छाछ में एक चम्मच सौंठ डालकर सेवन करना लाभदायक होगा। उल्टी आने या जी मचलाने पर छाछ में जायफल घिसकर इसके मिश्रण को पीने से लाभ मिलता है।

सौंदर्य समस्याओं के लिए भी छाछ बेहद फायदेमंद चीज है। छाछ में आटा मिलाकर बनाए गए लेप को लगाने से त्वचा की झुर्रियां कम होती हैं। इसके अलावा गुलाब की जड़ को छाछ में पीसकर चेहरे पर लगाने से मुहांसे खत्म हो जाते हैं।

अगर आप अत्यधिक से गुजर रहे हैं, तो नियमित छाछ का सेवन आपके लिए लाभदायक होगा। वहीं शरीर के साथ-साथ दिमाग की गर्मी को कम करने में भी छाछ का सेवन लाभप्रद है।

शरीर के किसी भाग में जल जाने पर तुरंत छाछ लगाने से लाभ होता है। खुजली की समस्या होने पर अमलतास के पत्ते छाछ में पीस लें और शरीर पर मलें। कुछ देर बाद स्नान करें। शरीर की खुजली नष्ट हो जाती है।

को उतारने में भी इसका प्रयोग किया जाता है। किसी व्यक्ति द्वारा जहर खाने पर उसे बार-बार फीका मट्ठा पिलाने से लाभ होता है, परंतु डॉक्टर की सलाह जरूरी है। विषैले जीव-जंतु के काटने पर मट्ठे में तम्बाकू मिलाकर लगाना लाभप्रद होता है।


एड़ियां फटने की समस्या होने पर छाछ बनाने पर निकलने वाला ताजा मक्खन लगाएं। ऐसा करने से फटी एड़ियां जल्दी ठीक हो जाती हैं।

झड़ने पर भी छाछ असरकारी है। इसके लिए बासी छाछ से सप्ताह में दो दिन बालों को धोना लाभप्रद होता है।
अगर अब तक आप छाछ को केवल पीते आए हैं, तो आपको ये जानकर हैरानी हो सकती है कि इसका इस्तेमाल त्वचा की सुंदरता निखारने के लिए भी किया जा सकता है। सुंदरता निखारने के लिए छाछ का इस्तेमाल आप इस प्रकार कर सकते हैं, आप चाहें तो रूई को छाछ में डुबाकर या फिर छाछ में गुलाब जल मिलाकर इसे त्वचा पर लगाएं। ऐसा करने से आपको 4 फायदे होंगे, आइए जानते हैं उन्हीं के बारे में -

छाछ त्वचा को मॉइश्चराइज करने के साथ ही क्लींजर का भी काम करता है। इसमें लैक्टिक एसिड पाया जाता है, जो आपकी स्किन से गंदगी को निकाल कर बाहर कर देता है।

छाछ आपकी स्किन के रंग को लाइट करने में मददगार होती है। इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड और अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड चेहरे की रंगत को निखारने के साथ-साथ स्किन पर से गहरे निशान मॉर्क्स को हटाने में मदद करते हैं।

स्किन के टेक्सचर को बेहतर करने के लिए आप छाछ में हल्दी पाउडर और बेसन मिलाकर पेस्ट बनाएं। अब इसे अपने चेहरे पर 15-20 मिनट के लिए लगाकर रखें। इसके बाद आप हल्के गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

यदि आपकी त्वचा पर टैनिंग हो गई हो. तो आप ठंड़ी छाछ में टमाटर का रस मिलाएं और अब इस मिश्रण को अपने चेहरे व अन्य प्रभावित स्थान पर लगाएं। इसके बाद आप करीबन एक घंटे बाद चेहरे को धोएं। इससे आपकी स्किन को ठंडक मिलेगी।

गर्मियों में शरीर का अग्नि दोष ज्यादा बढ़ जाता है और ऐसे में हमेशा ही एसिडिटी, जलन, पेट में दर्द, डाइजेशन की समस्या आदि बढ़ जाती है। गर्मियों के मौसम में ये बहुत जरूरी होता है कि हम अपने शरीर को ठंडा और हाइड्रेट रखें। अगर शरीर ठंडा नहीं रहेगा तो इसमें बहुत सारी समस्याएं होंगी और अन्य बीमारियां होंगी।
छाछ पीने का सबसे सही समय होता है लंच का समय। आप खाने के साथ भी इसे ले सकते हैं जिससे आपको दोपहर का खाना पचाने में आसानी हो।


रात को छाछ क्यों नहीं पीनी चाहिए?
रात में छाछ पीने से कफ बनने की समस्या हो सकती है। छाछ में जिस तरह के इंग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल होता है वो शरीर में कफ बनाते हैं। दही इसका मुख्य इंग्रीडिएंट होता है और दही भी रात में खाने को मना किया जाता है।

छाछ का इस्तेमाल इसी तरह से किया जाए तो बेहतर होगा। अगर आपको छाछ पीने से दिक्कत होती है या फिर पेट में जलन का अहसास होता है तो एक बार डॉक्टर से जरूर बात करें।
घर पर
कैसे
बनाएं छाछ?
1/4 कप दही
1 कप पानी
नमक स्वादानुसार
1/2 छोटा चम्मच रोस्टेड जीरा पाउडर
पुदीने की पत्तियां
धनिया की पत्तियां
कटी हुई अदरक या सोंठ पाउडर (ऑप्शनल)

सबसे पहले दही और पानी को एक बड़े बर्तन में लेकर अच्छे से मथ लें जिससे ये घोल पतला हो जाए। ये सामान्य छाछ बन गई है अब हम इसमें बाकी सामग्री मिलाएंगे।

इसमें सभी सामग्री डालकर हाथ से मथें या फिर किसी हैंड ब्लेंडर का उपयोग कर लें।

अब इसे पुदीने की पत्तियों और धनिया की पत्तियों की मदद से गार्निश करें और सर्व करें।

Latest Web Story

Latest 20 Post