Purane के जाने के बाद कौन ले सकता है इन दोनों बल्लेबाजों की जगह?

Purane के जाने के बाद कौन ले सकता है इन दोनों बल्लेबाजों की जगह?   Image

पुराने के जाने के बाद कौन ले सकता है इन दोनों बल्लेबाजों की जगह id="ram"> पुनः संशोधित शनिवार, 15 जनवरी 2022 (17:20 IST) दक्षिण अफ्रीका से समाप्त हुई सीरीज के बाद

पुनः संशोधित शनिवार, 15 जनवरी 2022 (17:20 IST)
दक्षिण अफ्रीका से समाप्त हुई सीरीज के बाद विराट कोहली ने बल्लेबाजों को कोसा है और यह इशारा किया है कि जल्द ही भारतीय बल्लेबाजी क्रम में बदलाव दिखेगा।

इसका सीधा सीधा यह मतलब है कि जल्द ही पुराने यानि कि चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे से टीम इंडिया छुटकारा पाएगी। इन दोनों बल्लेबाजों का फॉर्म लंबे समय से खराब है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार विफलता के बाद कुछ दिन पहले अनुभवी भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे सोशल मीडिया पर ‘पुराने (पुजारा और रहाणे के नाम से मिल कर बना)’ हैशटैग के साथ ट्रेंड कर रहे थे।

ALSO READ:

Purane की जल्द हो सकती है टेस्ट टीम से विदाई, फैंस भी उठा रहे हैं मांग

पुराने का फॉर्म खराब

अजिंक्य रहाणे ने दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर 22.66 की औसत से सिर्फ 136 रन बनाये जबकि पुजारा का आंकड़ा और भी खराब रहा। उन्होंने इस दौरान 20.66 की औसत से 124 रन बनाये।इस दौरे पर दोनों के बल्ले से सिर्फ 1 अर्धशतक निकला जो दूसरे टेस्ट में आया था।

बड़ी ही चतुराई से यह दोनों एक अर्धशतक लगाकर अपनी जगह बचा लेते हैं और अगली 10 पारियों में फिर जल्द पवैलियन रवाना हो जाते हैं।ऐसा सिर्फ दक्षिण अफ्रीका दौरे पर ही नहीं बल्कि इंग्लैंड दौरे पर भी हुआ था।

कौन ले सकता है जगह

ऐसा लग रहा था कि टीम प्रबंधन के साथ-साथ चयनकर्ता भी उन्हें सफल होने का भरपूर मौका देने पर तुले हुए हैं। और ये दोनो बार-बार उन्हें गलत साबित कर रहे हैं। शायद अब पुराने को एक ब्रेक (विश्राम) की आवश्यकता है और अन्य विकल्पों पर गौर किए जाने का समय आ गया है।

हालांकि जब विराट कोहली से इन दोनों के भविष्य के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह चयनकर्ताओं का काम है। लेकिन 2
नए खिलाड़ी आने वाले समय में पुराने की जगह ले सकते हैं।

खेल सकते हैं अजिंक्य रहाणे की जगह

अजिंक्य रहाणे को उनकी तेज रन गति के लिए टेस्ट टीम में रखा गया था। अपने टेस्ट करियर की शुरुआत में वह टीम पर दबाव नहीं बनने देते थे। श्रेयस अय्यर भी उस ही कलेवर के खिलाड़ी है।

कानपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ शतक लगाकर अपने टेस्ट करियर की धुंआधार शुरुआतक करने वाले श्रेयस अय्यर पूरे दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर पवैलियन में बैठे रह गए।

2 टेस्ट में 50 की औसत से 202 रन बनाने वाले श्रेयस आने वाले टेस्ट मैचों में रहाणे की जगह ले सकते हैं। श्रीलंका और वेस्टइंडीज टीम के खिलाफ घरेलू पिचों पर उन्हें टीम मौका देने में नहीं हिचकिचाएगी।

हनुमा विहारी खेल सकते हैं चेतेश्वर पुजारा की जगह

हनुमा विहारी वह काम कर सकते हैं जो चेतेश्वर पुजारा ने अपने करियर की शुरुआत में किया था। वह पिच पर टिक कर खेलना जानते हैं। उनकी बल्लेबाजी में वह ठहराव है जो टेस्ट क्रिकेट के लिए जरूरी है।

हनुमा विहारी ने दक्षिण अफ्रीका ए दौरे पर खासा प्रभावित किया था उन्होंने दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ तीन अर्धशतकीय पारियां खेली जिसमें क्रमश: 54, 72 नाबाद और 63 का स्कोर शामिल है।

लेकिन टीम इंडिया में उन्हें तब जगह मिली जब विराट कोहली चोटिल हुए। हनुमा विहारी ने दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 20 और दूसरी पारी में नाबाद 40 रन बनाए।

13 टेस्ट मैचों के करियर में 4 अर्धशतक और 1 शतक की मदद से 34 की औसत से 684 रन बनाने वाले विहारी पुजारा की जगह निश्चित तौर से ले सकते हैं।

About author
You should write because you love the shape of stories and sentences and the creation of different words on a page.