क्या वैक्सीन लगाने के बाद आपके भी पीरियड्स हुए लेट? वैज्ञानिकों ने बताया कितना खतरनाक है

क्या वैक्सीन लगाने के बाद आपके भी पीरियड्स हुए लेट? वैज्ञानिकों ने बताया कितना खतरनाक है   Image

कोविड-19 वैक्सीन लगाने को लेकर मन में कई तरह के सवाल उठ रहे थे जिन पर पूर्ण विराम लगाकर सभी लड़कियों ने भी वैक्सीन लगवाया। हालांकि यह शुरुआती दौर की बात है। लेकिन वैक्सीन लगवाने के बाद एक बार फिर से महिलाओं और लड़कियों के मन में डर आ गया जब उनके पीरियड्स नहीं आए या पीरियड्स लेट आए। जब यह मामले बढ़ने लगे तो इस पर शोध किया गया। पीरियड्स में हो हुई देरी के लिए अमेरिका के ऑर्गन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी ने एक रिसर्च की। वैज्ञानिकों के मुताबिक वैक्सीनेशन के बाद पीरियड्स में देरी होना नॉर्मल है। इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं है। id="ram"> कोविड-19 वैक्सीन लगाने को लेकर मन में कई तरह के सवाल उठ रहे थे जिन पर पूर्ण


वैक्सीन लगाने को लेकर मन में कई तरह के सवाल उठ रहे थे जिन पर पूर्ण विराम लगाकर सभी लड़कियों ने भी वैक्सीन लगवाया।
हालांकि यह शुरुआती दौर की बात है। लेकिन वैक्सीन लगवाने के बाद एक बार फिर से महिलाओं और लड़कियों के मन में डर आ गया जब उनके
पीरियड्स नहीं आए या पीरियड्स लेट आए। जब यह मामले बढ़ने लगे तो इस पर शोध किया गया। पीरियड्स में हो हुई देरी के लिए अमेरिका के
ऑर्गन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी ने एक रिसर्च की। वैज्ञानिकों के मुताबिक वैक्सीनेशन के बाद पीरियड्स में देरी होना नॉर्मल है। इसमें घबराने
वाली कोई बात नहीं है।

महिलाओं पर हुई रिसर्च -

वैज्ञानिकों ने एक फर्टिलिटी ट्रैकिंग ऐप के जरिए अमेरिकी महिलाओं के डेटा का अध्ययन किया। इन महिलाओं की उम्र 18 से 45 वर्ष थी। ये
न तो गर्भनिरोधक दवाओं का इस्तेमाल कर रही थीं और न ही प्रेग्नेंट थीं।


2403 महिलाओं पर शोध किया गया। सभी अलग-अलग तरह की वैक्सीन ली थी। अधिकतर महिलाओं ने फाईजर वैक्सीन ली थी। 55 फीसदी
महिलाओं ने। 35 फीसदी ने मॉडर्ना वैक्सीन और 7 फीसदी ने जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन ली थी। और 1556 महिलाएं ऐसी थी उन्होंने
वैक्सीन नहीं ली थी।

कुछ इस तरह से की गई रिसर्च -

- सबसे पहले वैक्सीनेटेड महिलाओं के वैक्सीनेशन के पहले और बाद के 3-3 पीरियड साइकिल ऑब्जर्व की गई। दूसरी और अनवैक्‍सीनेटेड
महिलाओं के 6 पीरियड साइकिल को फॉलो किया गया।

परिणाम -

शोध में वैज्ञानिकों ने देखा कि यह वैक्सीनेटेड महिलाओं के पीरियड में कुछ दिन का अंतर आया। वहीं

अनवैक्‍सीनेटेड ग्रुप में महिलाओं के पीरियड
नॉर्मल थे। लेट नहीं
हुए थे। वैक्सीनेटेड महिलाओं के पीरियड साइकिल में 2.38 दिन बढ़कर आए थे। वैज्ञानिकों के मुताबिक यह एक टेंपरेरी
बदलाव है। कुछ टाइम बाद
आपका पीरियड अपने आप निर्धारित समय पर ही आएगा -

जानें वैक्सीनेशन के बाद पीरियड में बदलाव क्यों ?

दरअसल, वैज्ञानिकों के मुताबिक वैक्सीन के बाद पीरियड्स में देरी होने की कोई पुष्‍ट वजह नहीं है। लेकिन वैक्सीन से हमारी इम्‍युनिटी मजबूत
होती है। जिसका असर हार्मोन पर पड़ता है। साथ ही स्ट्रेस भी इसका एक कारण होता है। क्योंकि कोविड के दौरान तनाव अधिक हुआ है इस
वजह से भी कई बार पीरियड्स गड़बड़ हो जाते हैं।

About author
You should write because you love the shape of stories and sentences and the creation of different words on a page.