Home / Articles / चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को खतरनाक बीमारी, कर रहे हैं तीसरा कार्यकाल हासिल करने की तैयारी

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को खतरनाक बीमारी, कर रहे हैं तीसरा कार्यकाल हासिल करने की तैयारी

चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक से पहले एक और बड़ी खबर आ रही है। कहा जा रहा है कि 68 वर्षीय चीन के राष्ट्रपति शी जि‍नपिंग एक गंभीर दिमागी बीमारी से जूझ रहे हैं। बताया जा रहा है कि जिनपिंग को सेरिब्रल एन्यूरिज्म नाम की बीमारी है। इस बीच, चीन में उन्हें एक और कार्यकाल दिए जाने की तैयारियां चल रही हैं। - Chinese President Xi Jinping has a dangerous disease, preparing to get a third term id="ram"> पुनः संशोधित बुधवार, 11 मई 2022 (14:21 IST) चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की

  • Posted on 13th May, 2022 00:10 AM
  • 1122 Views
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को खतरनाक बीमारी, कर रहे हैं तीसरा कार्यकाल हासिल करने की तैयारी   Image
पुनः संशोधित बुधवार, 11 मई 2022 (14:21 IST)
चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक से पहले एक और बड़ी खबर आ रही है। कहा जा रहा है कि 68 वर्षीय चीन के राष्ट्रपति शी जि‍नपिंग एक गंभीर दिमागी बीमारी से जूझ रहे हैं। बताया जा रहा है कि जिनपिंग को सेरिब्रल एन्यूरिज्म नाम की बीमारी है। इस बीच, चीन में उन्हें एक और कार्यकाल दिए जाने की तैयारियां चल रही हैं।

रिपोर्ट्‍स के मुताबिक उन्हें पिछले साल इसी बीमारी के चलते अस्पताल में भी भर्ती होना पड़ा था। शी की बीमारी की अटकलें इसलिए भी लगाई जा रही हैं क्योंकि बीजिंग विंटर ओलंपिक के दौरान उन्होंने वे विदेशी नेताओं से दूरी बनाकर रखी थी। 2019 में शी जिनपिंग इटली की यात्रा के दौरान लंगड़ाकर चलते हुए भी नजर आए थे। फ्रांस दौरे के समय भी वे पूरी तरह सहज नजर नहीं आ रहे थे।

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण : सेरिब्रल एन्यूरिज्म नामक इस बीमारी से दिमाग की नसें कमजोर होने के साथ ही फूल जाती हैं। साथ ही इन नसों के फटने का खतरा भी होता है। इसके अतिरिक्त सिर में तेज दर्द होना, हाथ-पैरों में लकवा मार जाना, लगातार कमजोरी या चक्कर आना आदि भी इसके प्रमुख लक्षण हैं।


क्या मिलेगा तीसरा कार्यकाल : हालांकि चीन शी जिनपिंग को तीसरा कार्यकाल देने के लिए उन्हें पार्टी कांग्रेस का प्रतिनिधि सर्वसम्मति से चुन लिया गया है। ऐसी अटकलें हैं 5 वर्ष में एक बार होने वाली पार्टी की बैठक में उनके एक बार फिर राष्ट्रपति पद पर बने रहने के फैसले पर मुहर लग सकती है।

बैठक वर्ष 2022 के उत्तरार्ध में होने जा रही है। ऐसा भी कहा जा रहा है कि इस अधिवेशन के बाद राष्ट्रपति शी जिनपिंग की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी में वही हैसियत हो जाएगी, जो कभी माओ त्से तुंग और देंग श्याओ पिंग की रही थी।

Latest Web Story

Latest 20 Post