Home / Articles / जिम्बाब्वे के कीपर बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर पर लगा 3.5 साल का बैन, ब्लैकमेल होकर की थी स्पॉट फिक्सिंग

जिम्बाब्वे के कीपर बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर पर लगा 3.5 साल का बैन, ब्लैकमेल होकर की थी स्पॉट फिक्सिंग

ज़िम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर पर आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी इकाई ने सभी प्रकार के क्रिकेट से साढ़े तीन साल का प्रतिबंध लगाया है। कथित भ्रष्टाचारियों के एक प्रस्ताव की रिपोर्ट करने में विफल रहने के लिए टेलर पर यह पाबंदी लगाई गई है। शुक्रवार (28 जनवरी) से शुरू होने वाले प्रतिबंध में डोपिंग के आरोप भी शामिल हैं। ब्रेंडन टेलर एक बार संन्यास लेकर दूसरी बार जिम्बाब्वे क्रिकेट में वापसी कर चुके थे और पिछले साल दुबारा संन्यास भी ले चुके थे। 3.5 साल के प्रतिबंध उनके करियर पर अब कुछ खास असर नहीं डालेगा लेकिन इस वाक्ये से उनकी छवि काफी धूमिल हुई है। id="ram"> Last Updated: शुक्रवार, 28 जनवरी 2022 (19:51 IST) दुबई: ज़िम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन

  • Posted on 28th Jan, 2022 14:45 PM
  • 1122 Views
जिम्बाब्वे के कीपर बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर पर लगा 3.5 साल का बैन, ब्लैकमेल होकर की थी स्पॉट फिक्सिंग   Image
Last Updated: शुक्रवार, 28 जनवरी 2022 (19:51 IST)
दुबई: ज़िम्बाब्वे के पूर्व कप्तान पर आईसीसी की ने सभी प्रकार के क्रिकेट से साढ़े तीन साल का प्रतिबंध लगाया है। कथित भ्रष्टाचारियों के एक प्रस्ताव की रिपोर्ट करने में विफल रहने के लिए टेलर पर यह पाबंदी लगाई गई है। शुक्रवार (28 जनवरी) से शुरू होने वाले प्रतिबंध में डोपिंग के आरोप भी शामिल हैं।

ब्रेंडन टेलर एक बार संन्यास लेकर दूसरी बार जिम्बाब्वे क्रिकेट में वापसी कर चुके थे और पिछले साल दुबारा संन्यास भी ले चुके थे। 3.5 साल के प्रतिबंध उनके करियर पर अब कुछ खास असर नहीं डालेगा लेकिन इस वाक्ये से उनकी छवि काफी धूमिल हुई है।

24 जनवरी को एक लंबे ट्विटर पोस्ट में टेलर ने ख़ुलासा किया था कि एक व्यवसायी के साथ कथित बैठक के दौरान भ्रष्टाचारियों ने कोकेन का सेवन करते हुए उनका वीडियो बनाया था। इस वीडिया का इस्तेमाल उन्हें स्पॉट-फ़िक्स करने के लिए धमकाने के लिए किया गया था। अगले सप्ताह अपना 36वां जन्मदिन मनाने वाले टेलर ने ख़ुद को एक पुनर्वास क्लिनिक में भर्ती कराया है।

टेलर ने डेली मेल को बताया कि अपने अंतिम अंतर्राष्ट्रीय मैच में पकड़े जाने से पहले वह कई वर्षों से वह ड्रग्स टेस्ट में बचते रहे। उन्होंने कहा, "पिछले ढाई वर्षों में मैं कई बार बचता रहा लेकिन वह मुझे अपने विनाश की ओर ले जा रहा था।"

ALSO READ:

पूरा IPL 2022 खेले खिलाड़ी तो WTC प्वाइंट्स खो सकता है यह देश

आईसीसी ने प्रेस रिलीज़ में कहा कि टेलर न केवल प्रस्ताव का ख़ुलासा करने में विफल रहे, उन्होंने कथित भ्रष्टाचारियों से आतिथ्य सहित उपहार और नक़द भी स्वीकार किया। कुल चार मामलों में टेलर ने एसीयू कोड का उल्लंघन किया। एक आरोप के अनुसार, "टेलर (बिना अनावश्यक देरी के) एसीयू को श्रीलंका और बांग्लादेश के ख़िलाफ़ ज़िम्बाब्वे की आगामी सीरीज़ में भ्रष्ट आचरण में शामिल होने के मिले प्रस्ताव का ख़ुलासा करने में विफल रहे थे।"

टेलर पर "एसीयू जांच में बाधा डालने या देरी करने का भी आरोप लगाया गया। इसमें किसी भी दस्तावेज़ या अन्य जानकारी को छुपाना, उस जांच से जुड़े सबूत के साथ छेड़छाड़ करना या उसे नष्ट करना शामिल है।''
आईसीसी ने कहा कि टेलर ने भ्रष्टाचार रोधी इकाई का सामना करने के बजाय आरोपों और सज़ा को स्वीकार करने का निर्णय लिया।

17 साल तक जिम्बाब्वे के लिए खेला क्रिकेट

आईसीसी ने बताया कि डोपिंग का आरोप 8 सितंबर 2021 को आयरलैंड और ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध मैच के दौरान किए गए टेस्ट के बाद लगाया गया। यह आरोप भ्रष्टाचार के आरोपों से अलग होगा। आईसीसी के डोपिंग रोधी कोड के तहत टेलर बेंज़ॉयलेकॉग्नाइन पदार्थ के लिए पॉज़िटिव पाए गए थे।

आईसीसी ने कहा, डोपिंग के लिए टेलर पर अधिकतम एक महीने का प्रतिबंध लगेगा जो साढ़े तीन वर्षों के निलंबन के साथ-साथ चलेगा। आईसीसी ने बताया कि टेलर 28 जुलाई 2025 से क्रिकेट में वापसी कर सकते हैं।

आईसीसी की भ्रष्टाचार विरोधी इकाई के अध्यक्ष एलेक्स मार्शल ने कहा कि यह निराशाजनक था कि 17 वर्षों तक ज़िम्बाब्वे का प्रतिनिधित्व करने वाले टेलर ने सही समय पर भ्रष्ट प्रस्तावों की रिपोर्ट नहीं की। उन्होंने कहा, "यह निराशाजनक है कि उनके जैसे अनुभवी खिलाड़ी ने अपने दायित्व को पूरा नहीं किया। हालांकि उन्होंने इन आरोपों को स्वीकार किया है। मैं ब्रेंडन द्वारा अन्य खिलाड़ियों को दिए गए संदेश को दोहराना चाहूंगा कि वह जल्द से जल्द ऐसे भ्रष्ट प्रस्तावों की रिपोर्ट दर्ज करें। हम ब्रेंडन के जल्द से जल्द ठीक होने की कामना करते हैं।"


ऐसा रहा करियर

वर्ष 2004 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले टेलर ने अपने अब तक के करियर में 34 टेस्ट, 204 वनडे और 45 टी-20 मुकाबले खेले हैं।

वनडे में 11 शतक उनके नाम हैं, जिसकी बदौलत वह वनडे में सर्वाधिक शतक लगाने वाले देश के शीर्ष खिलाड़ी हैं। 34 टेस्ट मैचों में 2320 रनों क साथ वह टेस्ट प्रारूप में जिम्बाब्वे के चौथे सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं, जबकि टी-20 क्रिकेट में वह रनों के लिहाज से हैमिल्टन मसाकादजा और सीन विलियम्स के बाद तीसरे स्थान पर हैं।

Latest Web Story

Latest 20 Post