Home / Articles / Bomb Blast Threat : हरिद्वार-रुड़की सहित 6 रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी, जैश-ए-मोहम्मद एरिया कमांडर के नाम से मिला पत्र

Bomb Blast Threat : हरिद्वार-रुड़की सहित 6 रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी, जैश-ए-मोहम्मद एरिया कमांडर के नाम से मिला पत्र

देहरादून। Bomb Blast Threat : रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक कार्यालय को मिले पत्र में खुद को जैश-ए-मोहम्मद नाम के आतंकी गैंग का एरिया कमांडर बताने वाले ने 21 मई को रुड़की रेलवे स्टेशन समेत लक्सर, रुड़की, हरिद्वार, देहरादून, ऋषिकेश, काठगोदाम, मुरादाबाद व बरेली रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ा देने की धमकी दी है। इसमें हरिद्वार के धार्मिक स्थल मनसा देवी, हरकी पैड़ी, चंडी देवी, कनखल दक्ष मंदिर और पिरान कलियर को भी निशाना बनाने की धमकी दी गई है। हरिद्वार के कई मंदिरों समेत मुख्यमंत्री पुष्करसिंह धामी को भी बम से उड़ाने की धमकी इस पत्र के जरिए दिए जाने की बात सामने आई है। - bomb blast threat 6 railway stations including haridwar roorkee received threat of bombing know what the police suspects id="ram"> एन. पांडेय| पुनः संशोधित सोमवार, 9 मई 2022 (20:01 IST) देहरादून। Bomb Blast Threat :रुड़की

  • Posted on 09th May, 2022 15:10 PM
  • 1154 Views
Bomb Blast Threat : हरिद्वार-रुड़की सहित 6 रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी, जैश-ए-मोहम्मद एरिया कमांडर के नाम से मिला पत्र   Image
एन. पांडेय| पुनः संशोधित सोमवार, 9 मई 2022 (20:01 IST)
देहरादून। Bomb Blast Threat :
रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक कार्यालय को मिले पत्र में खुद को जैश-ए-मोहम्मद नाम के आतंकी गैंग का एरिया कमांडर बताने वाले ने 21 मई को रुड़की रेलवे स्टेशन समेत लक्सर, रुड़की, हरिद्वार, देहरादून, ऋषिकेश, काठगोदाम, मुरादाबाद व बरेली रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ा देने की धमकी दी है। इसमें हरिद्वार के धार्मिक स्थल मनसा देवी, हरकी पैड़ी, चंडी देवी, कनखल दक्ष मंदिर और पिरान कलियर को भी निशाना बनाने की धमकी दी गई है। हरिद्वार के कई मंदिरों समेत मुख्यमंत्री पुष्करसिंह धामी को भी बम से उड़ाने की धमकी इस पत्र के जरिए दिए जाने की बात सामने आई है।
8 मई देर रात रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक एसके वर्मा के नाम मिले धमकीभरे इस पत्र के बाद पुलिस और प्रशासन की नींद उड़ गई है। पुलिस और इंटेलिजेंस ब्यूरो की टीमें इस पत्र की जांच पड़ताल करने में जुट गई हैं। पहले अप्रैल 2019 में भी एक धमकीभरा पत्र रेलवे अधीक्षक को मिला था।

पुलिस और इंटेलिजेंस ब्यूरो पहले मिले पत्र और इस पत्र की हैंडराइटिंग की जांच करने में जुटी हुई है। धमकीभरा पत्र मिलने के बाद से पुलिस और इंटेलिजेंस ब्यूरो की टीमें तेजी के साथ जांच में जुटी गई हैं। पत्र मिलने के बाद हरकत में आए लक्सर रेलवे स्टेशन पर बम निरोधक दस्ते ने डॉग स्क्वायड के साथ सघन चेकिंग अभियान भी चलाया।

2018, 2015, 2014 और 2013 में भी इस तरह के धमकी भरे पत्र मिल चुके हैं। इस मामले में राज्य के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि यह व्यक्ति पिछले 20 सालों से इस तरह के धमकी भरे पत्र भेज रहा है। पत्र भेजने वाले की मानसिक स्थिति ठीक नहीं लगती है।
उत्तराखंड की अन्य खबरें

नामांकन में कैबिनेट का जमावड़ा : चंपावत में उपचुनाव के लिए सीएम पुष्करसिंह धामी का नामांकन कराने पूरी कैबिनेट, पूर्व सीएम, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी और तमाम विधायकगण एकसाथ उपस्थित हुए। लगभग सभी वक्ताओं ने जनता को यह भरोसा दिलाने की कोशिश की कि एक मुख्यमंत्री चुनने का मौका बार-बार नहीं मिलता और चंपावत के पास यह बेहतरीन अवसर आया है।

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अपने वक्तव्य में खासतौर से चंपावत के तमाम इलाकों का जिक्र करते हुए यह बताने की कोशिश की, कि उनके लिए ये इलाका कोई नया नहीं है। उन्होंने गोलू देवता, पूर्णागिरी मंदिर, बाराही मंदिर देवीधुरा, अद्वैत आश्रम मायावती, नरसिंह मंदिर आदि का जिक्र किया।

पिथौरागढ़ से खटीमा आने-जाने के दौरान अपने अनुभवों को साझा करते हुए उन्होंने कहा कि ईजा (मां) की बातें मुझे ध्यान आती हैं, जब वे कहा करती थीं कि चंपावत वाले सबकी मदद करते हैं और आज वह मौका आ गया। उन्होंने कहा कि वे हमेशा यहां के लोगों के पीछे खड़े दिखाई देंगे, उनके सुख-दुख में हमेशा साथ रहेंगे। पूरे क्षेत्र को पर्यटन के रूप में एक बड़ा नाम बनाने के लिए वे लगातार काम करेंगे।

धामी के

नामांकन दाखिल करते वक्त उनके साथ भारी संख्या में उनके समर्थक मौजूद रहे। सीएम के लिए सीट छोड़ने वाले पूर्व विधायक कैलाश गहतोड़ी तो सायते की तरह उनके साथ खड़े दिखे। आम चुनावों में खटीमा से सीएम धामी की हार के बाद ही उन्होंने उन्हें इस सीट से चुनाव लड़ने की दावत दे डाली थी।

नामांकन के बाद मुख्यमंत्री ने जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि चंपावत गुरु गोरखनाथ की भूमि है। उन्होंने बताया कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने उत्तराखंड दौरे के दौरान कहा था कि वे चंपावत गुरु गोरखनाथ के दर्शन के लिए पहुंचेंगे।

उन्होंने कहा कि गोलज्यू सर्किट को विकसित किया जाएगा। सीएम धामी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जो प्यार और आशीर्वाद मुझे जनता से मिला है वह अभूतपूर्व है। मुझे यकीन है कि आगे भी जनता से मुझे यह प्यार मिलता रहेगा। सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार जनता के हित में अहम फैसले ले रही है। जनता को इसका लाभ मिले, इसके भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। चम्पावत विधानसभा चुनाव के लिए आगामी 31 मई को चुनाव होगा और 4 जून को मतगणना होगी।

Latest Web Story

Latest 20 Post