Home / Articles / इस तारीख से होगी Bharat NCAP की शुरुआत, अब सरकार तय करेगी Indian Cars की सेफ्टी रेटिंग

इस तारीख से होगी Bharat NCAP की शुरुआत, अब सरकार तय करेगी Indian Cars की सेफ्टी रेटिंग

इस तारीख से होगी Bharat NCAP की शुरुआत, अब सरकार तय करेगी Indian Cars की सेफ्टी रेटिंग Image
  • Posted on 27th Jun, 2022 20:36 PM
  • 1333 Views

Bharat NCAP प्रोग्राम के तहत अडल्ट और बच्चों की प्रोटेक्शन और सेफ्टी असिस्ट टेक्नोलॉजी के लिए गाड़ियों की रेटिंग दी जाएगी। क्रैश टेस्ट्स में परफॉर्मेंस के आधार पर गाड़ियों को 'स्टार रेटिंग' दी जाएगी। जल्द ही इंडियन कार्स की सेफ्टी टेस्टिंग देश में ही की जाएगी। सड़क परिवहन और राजमार्ग

जल्द ही इंडियन कार्स की सेफ्टी टेस्टिंग देश में ही की जाएगी। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने Bharat NCAP को पेश करने के लिए ड्राफ्ट नोटिफिकेशन को मंजूरी दे दी है। नया कार वैल्यूएशन प्रोग्राम 1 अप्रैल, 2023 को शुरू किया जाएगा। Also Read - Nitin Gadkari ने दी Bharat NCAP को मंजूरी, अब इंडिया में भी होगा गाड़ियों का क्रैश टेस्ट

MoRTH की एक ऑफिशियल स्टेटमेंट के मुताबिक, Bharat NCAP प्रोग्राम ‘M1’ कटेगरी के टाइप-अप्रूव्ड वीइकल्स पर लागू होगा। इनमें आठ सीटों तक के पैसेंजर वीइकल (ड्राइवर सीट के अलावा) शामिल हैं, जिनका कुल वजन 3.5 टन से कम है। Also Read - Nitin Gadkari का मास्टर प्लान! गलत पार्किंग वाली गाड़ियों की फोटो भेजने वाले को मिलेगा 500 रुपये का इनाम, जानें डिटेल

Also Read - नितिन गडकरी ने बताई Electric Scooters में आग लगने की वजह, कंपनियों को दी ये सलाह

भारत में ऑटोमोबाइल्स को मौजूदा भारतीय नियमों और ड्राइविंग कंडीशन के साथ क्रैश टेस्ट में उनके परफॉर्मेंस के आधार पर स्टार रेटिंग दी जाएगी। Bharat NCAP प्रोग्राम की अनाउंसमेंट पहली बार 2016 में की गई थी।

Nitin Gadkari ने दी Bharat NCAP को मंजूरी

इससे पहले केंद्रीय मंत्री Nitin Gadkari ने Bharat NCAP को मंजूरी दे चुके हैं। अपने ट्वीट में उन्होंने कहा, “क्रैश टेस्ट के आधार पर भारतीय कारों की स्टार रेटिंग न केवल पैसेंजर्स की सेफ्टी के लिए, बल्कि भारतीय ऑटोमोबाइल के एक्सपोर्ट बढ़ाने के लिए भी बेहद जरूरी है।” उन्होंने कहा, “Bharat NCAP भारत को दुनिया में नंबर 1 ऑटोमोबाइल हब बनाने के मिशन के साथ हमारी ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री को आत्मानिर्भर बनाने में मदद करेगा।”

Bharat NCAP में होगी CNG और Electric Vehicles की टेस्टिंग

Bharat NCAP सिर्फ पेट्रोल-डीजल वाले वीइकल्स की टेस्टिंग तक सीमित नहीं होगा, बल्कि CNG और Electric Vehicles की टेस्टिंग भी करेगा। इसके अलावा, जहां Global NCAP की तरफ से अडल्ट और चाइल्ड सेफ्टी के लिए अलग-अलग स्टार रेटिंग दी जाती है, वहीं BNCAP इसके लिए कंबाइन रेटिंग दे सकता है।

Bharat NCAP के जरिए रोड एक्सीडेंट्स को कम करना चाहती है सरकार

Bharat NCAP के जरिए सरकार 2030 के अंत तक रोड एक्सीडेंट्स और मौतों की संख्या को 50 प्रतिशत तक कम करना चाहती है। भारत में दुनिया के कुछ सबसे खराब एक्सीडेंट्स का रिकॉर्ड है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों से पता चलता है कि 2020 में रोड एक्सीडेंट्स की वजह से 1,20,000 से अधिक लोग मारे गए थे।

इस तारीख से होगी Bharat NCAP की शुरुआत, अब सरकार तय करेगी Indian Cars की सेफ्टी रेटिंग View Story

Latest Web Story

Latest 20 Post