BCCI ने किया कोहली के फैसले का स्वागत, रहे हैं सबसे सफल भारतीय टेस्ट कप्तान

BCCI ने किया कोहली के फैसले का स्वागत, रहे हैं सबसे सफल भारतीय टेस्ट कप्तान   Image

टी-20 की कप्तानी छोड़ने और वनडे की कप्तानी जाने के बाद विराट कोहली ने आज टेस्ट की कप्तानी भी छोड़ दी। विराट कोहली के इस निर्णय का बीसीसीआई ने सम्मान किया और उन्हें भारत का सबसे सफल कप्तान भी बताया। id="ram"> Last Updated: शनिवार, 15 जनवरी 2022 (20:03 IST) टी-20 की कप्तानी छोड़ने और वनडे की कप्तानी जाने के

Last Updated: शनिवार, 15 जनवरी 2022 (20:03 IST)
टी-20 की कप्तानी छोड़ने और वनडे की कप्तानी जाने के बाद विराट कोहली ने आज की कप्तानी भी छोड़ दी। विराट कोहली के इस निर्णय का बीसीसीआई ने सम्मान किया और उन्हें भारत का सबसे सफल कप्तान भी बताया।

विराट ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जारी एक बयान में कहा,''पिछले सात वर्षों में रोजाना कड़ी मेहनत और अथक प्रयासों से टीम को सही दिशा में ले जाने का काम किया। इस सफर के दौरान कई उतार चढ़ाव रहे लेकिन आत्मविश्वास की कमी कभी नहीं रही। मेरा हमेशा यह विश्वास रहा है कि मैं जो भी करूं उसमें अपना 120 प्रतिशत दूं। ''

अपने सोशल मीडिया पोस्ट में विराट ने लिखा "लेकिन हर अच्छे चीज़ का अंत आता है और टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी से हटने का यही समय है। इस यात्रा में कई उतार-चढ़ाव आए, लेकिन हमने कभी भी विश्वास या प्रयत्न की कमी नहीं दिखाई। मैं हमेशा से अपना 120% देने में विश्वास करता हूं और अगर मैं ऐसा करने में सक्षम नहीं हूं, तो नहीं करता।"

धोनी को दिया धन्यवाद

उन्होंने इसके लिए बीसीसीआई, खिलाड़ियों, रवि शास्त्री और सपोर्ट स्टाफ़ को धन्यवाद दिया। इसके अलावा उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी को धन्यवाद दिया, जिनके 2014-15 में ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज़ में कप्तानी छोड़ने के बाद विराट को टेस्ट कप्तानी मिली थी।

बीसीसीआई ने भी ट्वीट कर 'अपने सबसे सफल कप्तान' को उनके कप्तानी करियर के लिए बधाई दी है। उल्लेखनीय है कि कोहली ने 68 टेस्ट मैचों में कप्तानी की, जिसमें उन्हें 40 में जीत और 17 में हार का सामना करना पड़ा। वह भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान हैं, वहीं 40 से अधिक टेस्ट जीतने वाले दुनिया के चार सफलतम कप्तानों में भी उनका नाम शामिल है। अन्य तीन कप्तान स्टीव वॉ, रिकी पोंटिंग और ग्रीम स्मिथ हैं।
महेंद्र सिंह धोनी से निकल गए थे 2021 में आगे

साल 2021 में इंग्लैंड के भारत दौरे पर विराट कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी के किसी भी भारतीय कप्तान के सबसे ज्यादा टेस्ट जीत के रिकॉर्ड को तोड़ दिया था।

पहली बार 2014 में टेस्ट टीम की कमान संभालने वाले कोहली अब तक जिन 68 मैचों में कप्तान रहे हैं उनमें से 40 में भारत ने जीत दर्ज की है जो भारतीय रिकार्ड है। धोनी 60 मैचों में 27 जीत के साथ दूसरे स्थान पर हैं।


इन कप्तानों कि रिकॉर्ड को नहीं तोड़ पाए कोहली

लॉयड की अगुवाई में वेस्टइंडीज ने 74 मैच खेले जिनमें से 36 में उसने जीत हासिल की थी। कप्तान के रूप में सर्वाधिक मैचों में जीत का रिकार्ड दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ (109 मैचों में 53 जीत) के नाम पर है। उनके बाद ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (77 मैचों में 48 जीत) और स्टीव वॉ (57 मैचों में 41 जीत) का नंबर आता है। स्टीव वॉ के रिकॉर्ड की बराबरी कोहली कर सकते थे लेकिन वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरा टेस्ट हारने के कारण वह वॉ की बराबरी नहीं कर सके।

About author
You should write because you love the shape of stories and sentences and the creation of different words on a page.