Home / Articles / क्या ‘नए भारत’ में सिर्फ ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी : राहुल

क्या ‘नए भारत’ में सिर्फ ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी : राहुल

नई दिल्ली। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए सवाल किया कि क्या ‘नए भारत’ में देश के वीरों की नहीं, सिर्फ प्रधानमंत्री के ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी? - Agnipath: Rahul asks if in New India only friends will be heard id="ram"> पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 जून 2022 (15:07 IST) हमें फॉलो करें नई दिल्ली। पूर्व

  • Posted on 24th Jun, 2022 10:06 AM
  • 1470 Views
क्या ‘नए भारत’ में सिर्फ ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी : राहुल   Image
पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 जून 2022 (15:07 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए सवाल किया कि क्या ‘नए भारत’ में देश के वीरों की नहीं, सिर्फ प्रधानमंत्री के ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी?

उन्होंने एक खबर का भी हवाला दिया जिसमें कथित तौर पर कहा गया है कि सेना के एक मानद कैप्टन के अनुसार, ‘अग्निपथ’ योजना सेना को बर्बाद कर देगी।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'एक तरफ़ देश के परमवीर हैं और दूसरी तरफ़ प्रधानमंत्री का घमंड और तानाशाही। क्या ‘नए भारत’ में सिर्फ़ ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी, देश के वीरों की नहीं?'
गौरतलब है कि योजना 14 जून को घोषित की गई थी, जिसमें साढ़े 17 साल से 21 साल की उम्र के युवाओं को केवल चार वर्ष के लिए सेना में भर्ती करने का प्रावधान है। 4 साल बाद इनमें से केवल 25 प्रतिशत युवाओं की सेवा को नियमित किया जाएगा। बाद में सरकार ने 2022 में भर्ती के लिए ऊपरी आयु सीमा को बढ़ाकर 23 वर्ष कर दिया।

Latest Web Story

Latest 20 Post