Home / Articles / नेपाल के बाद UK पहुंची भारत की UPI पेमेंट सर्विस, यहां जानें पूरी डिटेल

नेपाल के बाद UK पहुंची भारत की UPI पेमेंट सर्विस, यहां जानें पूरी डिटेल

नेपाल के बाद UK पहुंची भारत की UPI पेमेंट सर्विस, यहां जानें पूरी डिटेल Image
  • Posted on 19th Aug, 2022 04:06 AM
  • 1048 Views

UPI सर्विस के UK पहुंचने से यहां मौजूद भारतीय छात्रों के लिए पेमेंट करना आसान हो जाएगा। इसके साथ ही हर साल 5 लाख से अधिक भारतीय नागरिक UK की यात्रा करते हैं, इस नई साझेदारी से भारतीय पर्यटकों को भी पेमेंट करने में आसानी होगी। भारत का Unified Payments Interface (UPI) देश में पेमेंट का पसंदीदा तरीका बन चुका है। यह लगातार नए रिकॉर्ड बना

भारत का Unified Payments Interface (UPI) देश में पेमेंट का पसंदीदा तरीका बन चुका है। यह लगातार नए रिकॉर्ड बना रहा है, जिस क्रम में पिछले महीने 6 बिलियन ट्रांजेक्शन का आंकड़ा पार कर लिया। Also Read - UPI की लंबी 'छलांग', जुलाई में छुआ 600 करोड़ ट्रांजैक्शन का आंकड़ा

इसी साल फरवरी में यह सर्विस देश की सीमा को लांघ कर पड़ोसी देश नेपाल भी पहुंची, जहां इस पेमेंट सिस्टम को अपनाने पर काम चल रहा है। अब एक नई खबर के मुताबिक, इस सर्विस का विस्तार UPI यूजर्स को UK में भी लेनदेन करने की अनुमति देगा। आइए इस बारे में डिटेल में जानते हैं। Also Read - Android यूजर्स के लिए रोल आउट हुआ Google Wallet, गूगल पे को करेगा रिप्लेस

UK पहुंची भारत की UPI सर्विस

UPI सर्विस को चलाने वाले संगठन National Payments Corporation of India (NPCI) की सहायक कंपनी NPCI International ने यूके में यूपीआई पेमेंट को पहुंचाने के लिए UK स्थित पेमेंट सॉल्यूशंस प्रोवाइडर PayXpert के साथ भागीदारी की है। Also Read - How to link or remove bank account on WhatsApp Pay: व्हाट्सऐप में अपने बैंक अकाउंट को लिंक या रिमूव कैसे करें?

इस पार्टनरशिप की मदद से भारतीय पेमेंट सर्विस PayXpert के यूके में मौजूद सभी एंड्रॉइड पॉइंट-ऑफ-सेल (POS) डिवाइस पर काम करेगी। इन-स्टोर पेमेंट्स के लिए पहले UPI आधारित QR कोड पेमेंट चालू होंगे और बाद में RuPay कार्ड पेमेंट की संभावना भी है।

मौजूदा वक्त पर भारत में UPI का इस्तेमाल व्यक्ति-से-व्यक्ति (P2P) और व्यक्ति-से-व्यापारी (P2M) लेनदेन के लिए किया जा रहा है। NPCI का दावा है कि UPI के जरिए 2021 में 39 बिलियन ट्रांजेक्शन हुए, जिनके तहत 940 बिलियन डॉलर वॉल्यूम का लेन-देन हुआ। यह भारत की जीडीपी के 31 फीसदी के बराबर है।

जुलाई 2022 में इस सर्विस के जरिए 6 बिलियन ट्रांजेक्शन किए गए। 2016 के बाद यह UPI ट्रांजेक्शन का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस खबर को ट्वीट किया और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे क्वोट करके उत्कृष्ट उपलब्धि बताया।

UPI सर्विस के UK पहुंचने से यहां मौजूद भारतीय छात्रों के लिए पेमेंट करना आसान हो जाएगा। इसके साथ ही हर साल 5 लाख से अधिक भारतीय नागरिक UK की यात्रा करते हैं, इस नई साझेदारी से भारतीय पर्यटकों को भी पेमेंट करने में आसानी होगी।

Related Articles

नेपाल के बाद UK पहुंची भारत की UPI पेमेंट सर्विस, यहां जानें पूरी डिटेल View Story

Latest Web Story

Latest 20 Post